मोंटे कार्लो खिताब से एक कदम दूर बोपन्ना

मोंटे कार्लो खिताब से एक कदम दूर बोपन्ना

मोंटे कार्लो। भारत के रोहन बोपन्ना और उरुग्वे के पाब्लो क्यूवास की जोड़ी ने अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुये मोंटे कार्लो मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया है।
बोपन्ना और क्यूवास ने सेमीफाइनल में मोनाको के रोमेन आर्नेडो और फ्रांस के ह्यूगो निस को लगभग एक घंटे में लगातार सेटों में 6-4, 6-3 से पराजित किया। विजेता जोड़ी ने पूरे मैच में नियंत्रण के साथ खेल दिखाया और विपक्षी जोड़ी को वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया।
बोपन्ना-क्यूवास का इस साल के शुरु में जोड़ी बनाने के बाद से यह पहला फाइनल है। बोपन्ना के करियर का यह कुल 40वां युगल फाइनल है जिसमें उन्होंने 15 खिताब जीते हैं। बोपन्ना पहली बार मोंटे कार्लो मास्टर्स के फाइनल में पहुंचे हैं। विजेता जोड़ी ने अपने पिछले तीन मैच तीन सेटों के संघर्ष में जीते थे।
साधन सम्पन्न लोगों को यश भारती पेंशन बन्द करने के लिए योगी को पत्र
उन्होंने इन तीन मैचों का निपटारा सुपर टाई ब्रेक में जाकर किया था। लेकिन सेमीफाइनल में उन्होंने लगातार सेटों में जीत अपने नाम की। बोपन्ना और क्यूवास का अब खिताब के लिये सातवीं सीड स्पेन की जोड़ी फेलिसियानो लोपेज और मार्क लोपेज के साथ मुकाबला होगा जिन्होंने अन्य सेमीफाइनल में पियरे ह्यूज हरबर्ट और निकोलस माहुत की जोड़ी को 6-1, 7-6 से पराजित किया।

Share it
Top