मुश्किलों के बावजूद जीवन चलता रहता है: बोल्ट

मुश्किलों के बावजूद जीवन चलता रहता है: बोल्ट

मेलबोर्न। साथी धावक नेस्टा कार्टर के डोपिंग टेस्ट में दोषी पाये जाने के बाद रिले स्वर्ण पदक वापस लिये जाने से निराश जमैका के ओलंपिक और विश्व चैंपियन धावक यूसेन बोल्ट ने दार्शनिक अंदाज में कहा कि मुश्किलें जीवन का हिस्सा हैं और इसके बावजूद जीवन चलता रहता है।
कार्टर के डोपिंग नमूने की जांच में दोषी पाये जाने के बाद बोल्ट के नौ ओलंपिक स्वर्ण पदकों में एक पदक वापस ले लिया जाएगा। बीजिंग ओलंपिक 2008 में बोल्ट ने चार गुणा 100 मीटर रिले स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था जिसमें कार्टर उनके साथी थे। बोल्ट ने 2008, 2012 और 2016 ओलंपिक में 100 मीटर, 200 मीटर और चार गुणा 100 मीटर स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक जीते थे।
बजट : 2.5 से 5 लाख की सालाना आय पर अब देना होगा 5 फीसदी कर, 3 लाख रुपए से अधिक के नकद लेनदेन पर प्रतिबंध !
अंतराष्र्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने पिछले साल 454 खिलाडिय़ों के नमूनों की पुन: जांच की थी जिसमें कार्टर का नाम शामिल था। समिति ने जांच के बाद एक बयान में कहा था कि कार्टर के शरीर में मिथाइलहेक्जेनामाइन नाम की प्रतिबंधित दवा पाई गई जिसके बाद उनका रिले दौड़ में जीता स्वर्ण अवैध घोषित कर दिया गया है। बोल्ट ने कहा, कि निश्चित रूप से शुरुआत में मैं निराश था लेकिन यथार्थ में जीवन में बहुत सी चीजें होती हैं जिस पर आपका कोई वश नहीं होता है। मैं अब दुखी नहीं हूं। मुझे इंतजार है कि आगे क्या होता है। मैंने अपना पदक वापस कर दिया है।

Share it
Top