मुरली, विराट का बंगलादेशी गेंदबाजों पर शतकीय प्रहार

मुरली, विराट का बंगलादेशी गेंदबाजों पर शतकीय प्रहार

हैदराबाद। भारत की जमीन पर पहली बार एकमात्र टेस्ट खेलने आयी बंगलादेशी टीम को मैच के पहले ही दिन नंबर वन टीम के बल्लेबाजों ने नजारे दिखा दिये और मुरली विजय, तथा कप्तान विराट कोहली ने अपने दमदार शतकों से दिन का खेल समाप्त होने तक तीन विकेट के नुकसान पर बोर्ड पर 356 रन जोड़ डाले।
भारत और बंगलादेश के बीच एकमात्र टेस्ट में मेजबान टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया और दिन का खेल समाप्त होने तक 90 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर 356 रन का मजबूत स्कोर बना दिया। मुरली ने 108 रन, पुजारा ने 83 रन और विराट ने नाबाद 111 रन की लाजवाब पारियां खेलीं। भारत के पास अभी सात विकेट सुरक्षित हैं और विराट 111 तथा अजिंक्या रहाणे 45 रन बनाकर क्रीज पर हैं।
मैच में भारत की हालांकि शुरूआत खराब रही और मात्र दो रन के स्कोर पर ओपनर लोकेश राहुल को तस्कीन अहमद ने बोल्ड कर बंगलादेश को आते ही विकेट दिला दिया। हालांकि इसके बाद मेहमान टीम को दिन का दूसरा विकेट निकालने के लिये 50वें ओवर तक इंतजार करना पड़ गया। मुरली ने फिर पुजारा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिये 50.1 ओवर में 178 रन की साझेदारी कर डाली और भारत के स्कोर को एक विकेट पर दो रन से 180 के स्कोर तक पहुंचा दिया।
दूसरे नंबर के बल्लेबाज मुरली ने अपने टेस्ट करियर का नौवां शतक पूरा करते हुये 160 गेंदों की पारी में 12 चौके और एक छक्का लगाकर 108 रन जोड़े। मुरली साथ ही भारत के संयुक्त रूप से तीसरे ओपनिंग बल्लेबाज भी बन गये हैं जिन्होंने टेस्ट में ओपनिंग क्रम में सर्वाधिक शतक बनाये हैं। उनसे पहले सुनील गावस्कर (33) पहले और वीरेंद्र सहवाग(22) इस मामले में दूसरे स्थान पर हैं।
कन्नौज सांसद डिम्पल यादव ने कहा, सरकारी नौकरियों में ख़त्म होगी महिलाओं की उम्र सीमा..!
पुजारा ने भी अपने अंदाज में जबरदस्त पारी खेली और 177 गेंदों में नौ चौके लगाकर 83 रन की अहम पारी खेली और टेस्ट में 12वां अर्धशतक जमाया। पुजारा हालांकि अपने शतक से मात्र 17 रन ही दूर थे कि उन्हें मेहदी हसन मिराज ने दूसरे बल्लेबाज के रूप में आउट कर दिया। मेहदी ने बंगलादेशी कप्तान और विकेटकीपर मुशफिकुर रहीम के हाथों पुजारा को कैच कराया। इस साझेदारी के टूटने के बाद मुरली ने कप्तान विराट के साथ पारी को आगे बढ़ाया। भारत ने चायकाल तक दो विकेट के नुकसान पर 206 रन बनाये। मुरली और विराट ने तीसरे विकेट के लिये फिर 54 रन की अर्धशतकीय साझेदारी की। लेकिन मुरली फिर तैजुल इस्लाम की गेंद पर बोल्ड होकर दिन के तीसरे बल्लेबाज के रूप में 63वें ओवर में आउट होकर पवेलियन लौट गये।
भारत का तीसरा विकेट 234 के स्कोर पर गया। लेकिन इसके बाद कप्तान विराट और तिहरा शतक ठोकने वाले करूण नायर पर टीम की पहली पसंद अजिंक्या रहाणे ने सफलतापूर्वक पारी को आगे बढ़ाते हुये दिन का खेल समाप्त होने तक 26.2 ओवर में चौथे विकेट के लिये 122 रन की अविजित साझेदारी की और भारत को और कोई विकेट का नुकसान नहीं होने दिया।
गैर निष्पादित सम्पत्ति के लिए संप्रग सरकार जिम्मेदार: जेटली
भारत की जमीन पर पहला टेस्ट खेल रही बंगलादेश के खिलाफ विराट ने अपने टेस्ट करियर का 16वां टेस्ट शतक ठोका। भारतीय कप्तान ने इसी के साथ सात टेस्ट टीमों के साथ खेलने और उनके खिलाफ शतक ठोकने की उपलब्धि भी अपने नाम कर ली। विराट ने अभी तक पाकिस्तान और जिम्बाब्वे के खिलाफ टेस्ट मैच नहीं खेला है।
28 वर्षीय बल्लेबाज ने 70 गेंदों पर अपने 50 रन और 130 गेंदों पर 100 रन पूरे किये। उन्होंने 141 गेंदों में 12 चौके लगाकर नाबाद 111 रन बनाये। उनके साथ दूसरे छोर पर रहाणे ने 60 गेंदों में सात चौके लगाकर नाबाद 45 रन बनाये। रहाणे चोट के बाद टीम में वापसी कर रहे हैं और इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी दो टेस्टों में नहीं खेल सके थे। कप्तान और कोच ने उन्हें करूण नायर पर अंतिम एकादश में तरजीह दी है जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में तिहरा शतक बनाया था। बंगलादेश की ओर से तस्कीन को 58 रन पर एक विकेट, मेहदी हसन मिराज को 93 रन पर एक विकेट और तैजुल इस्लाम को 50 रन पर एक विकेट मिला। कामरूल इस्लाम रब्बी 91 रन देकर महंगे साबित हुये और कोई विकेट नहीं ले सके।

Share it
Top