मुनाफा वसूली के दबाव में सपाट बंद हुआ बाजार

मुनाफा वसूली के दबाव में सपाट बंद हुआ बाजार

मुंबई -विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच मजबूत शुरुआत के बावजूद दिग्गज कंपनियों में मुनाफा वसूली के दबाव में आज घरेलू शेयर बाजार लगभग सपाट बंद हुये।
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 7.10 अंक यानी 0.02 प्रतिशत चढ़कर 29,933.25 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 2.80 अंक यानी 0.03 प्रतिशत की मामूली बढ़त में 9,316.85 अंक पर बंद हुआ।
दोनों बाजारों में लगातार दूसरे दिन तेजी देखी गयी है।
सेंसेक्स 51.35 अंक चढ़कर 29,977.50 अंक पर खुला। लेकिन, खुलने के तुरंत बाद ही इसने अपनी बढ़त खो दी और कुछ क्षण के लिए लाल निशान में चला गया। कारोबार के दौरान एकाध मौकों पर कुछ मिनटों के लिए लाल निशान में जाने के अलावा लगभग पूरे दिन यह हरे निशान में ही रहा।
दोपहर के बाद एक समय यह 30 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के ऊपर 30,017.82 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँचने में भी कामयाब रहा। हालाँकि, इसके बाद यह 29,911.44 अंक के दिवस के निचले स्तर तक भी उतरा।
कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस की तुलना में 7.10 अंक ऊपर 29,933.25 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 15 कंपनियाँ हरे और 15 लाल निशान में रहीं। सबसे ज्यादा दो प्रतिशत की तेजी एलएंडटी में और तीन प्रतिशत की गिरावट हीरो मोटोकॉर्प में देखी गयी। इनके अलाव अदानी पोर्ट्स में डेढ़ फीसदी से ज्यादा बढ़त और ल्युपिन में दो प्रतिशत से अधिक गिरावट रही। निफ्टी भी 23.30 अंक की तेजी के साथ 9,337.35 अंक पर खुला।
कारोबार के दौरान इसका उच्चतम स्तर 9,338.95 अंक और निचला स्तर 9,307.70 अंक रहा। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 2.80 अंक ऊपर 9,316.85 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,998 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ।
इनमें 1,469 हरे निशान में और 1,355 लाल निशान में रहीं जबकि 174 के शेयरों के भाव उतार-चढ़ाव से होते हुये अपरिवर्तित रहे। मझौली और छोटी कंपनियों में निवेशकों का विश्वास ज्यादा रहा। बीएसई का मिडकैप 0.19 प्रतिशत चढ़कर 14,821.13 अंक पर और स्मॉलकैप 0.53 प्रतिशत की मजबूती के साथ 15,544.63 अंक पर बंद हुआ।

Share it
Top