मिस्बाह बने ‘गदाधारी’

मिस्बाह बने ‘गदाधारी’

misbah-ul-haqलाहौर। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान मिस्बाह उल हक को राष्ट्रीय टीम के विश्व की नंबर एक टेस्ट टीम बनने की उपलब्धि के लिये गद्दाफी स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद(आईसीसी) की तरफ से गदा भेंट की गई है। टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक बनी पाकिस्तानी टीम के कप्तान मिस्बाह को आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने गदा भेंट की। गद्दाफी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में 42 वर्षीय मिस्बाह को चांदी और सोने से बनी हुई ट्राफी के साथ गदा भी भेंट की गयी। इस स्टेडियम में ही पाकिस्तानी टीम ने अपना आखिरी घरेलू टेस्ट खेला था। वर्ष 2009 में श्रीलंकाई टीम की बस पर इसी स्टेडियम के बाहर आतंकवादी हमला हुआ था और तभी से पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट लगभग ठप है और टीम अपने घरेलू मैच संयुक्त अरब अमीरात में खेलती है। मिस्बाह ने इस मौके पर उम्मीद जताई कि जल्द ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट भी पाकिस्तान में वापसी करेगा। मिस्बाह ने कहा आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की गदा पाने के लिये गद्दाफी स्टेडियम से बेहतर जगह नहीं हो सकती है। लेकिन खिलाडियों और प्रशंसकों के लिये यह विडंबना ही है कि हमारी टीम के नंबर एक बनने का सफर देश के बाहर ही रहा है।

Share it
Top