मानसून की चाल पर निर्भर करेगा शेयर बाजार

मानसून की चाल पर निर्भर करेगा शेयर बाजार

मुंबई। विदेशी निवेशकों की सक्रियता और कंपनियों के बेहतर परिणामों की उम्मीदों से नये रिकार्ड बना रहे देश के शेयर बाजारों की अगले सप्ताह चालू मानसून की प्रगति और निवेशकों की खरीदारी पर निर्भर करेगी।
बाजार विश्लेषकों का मानना है कि सरकार आने वाले दिनों में अर्थव्यवस्था को और तेजी से आगे बढाने के लिये कदम उठा सकती है। उधर मानसून भी सही समय से पहले आने की उम्मीद बंधी है। इसके अलावा फेडरल रिजर्व की ब्याज दरों ब्याज को बढ़ाने की गति धीमी रहने से बाजार को हवा मिली है। मौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार मानसून 29 मई तक केरल में दस्तक दे देगा। यह सामान्य की तुलना में दो-तीन दिन पहले होगा। देश में कृषि अर्थव्यवस्था के लिये मानसून का बहुत महत्व है। दो साल के सूखे के बाद गत वर्ष मानसून अच्छा रहा था जिसके परिणाम स्वरूप कृषि पैदावार अच्छी हुई थी।
बीते सप्ताह कई सार्वजनिक उपक्रमों और कई निजी कंपनियों के बेहतर परिणामों के साथ-साथ वायदा एवं विकल्प के सौंदों को पूरा करने के लिये हुई खरीदारी से शेयर बाजारों ने नयी छलांग लगायी और नये रिकार्ड पर बंद हुए। विदेशी और घरेलू संस्थानों की खरीद भी बाजार को नयी ऊचाई पर ले जाने में सहायक रही । चालू वित्त वर्ष में एक अप्रैल से 26 मई तक अवधि विदेशी संस्थानों ने 11 हजार 401 करोड रूपये की शुद्ध लिवाली की घरेलू संस्थान भी 13 हजार 806 करोड रूपये के लिवाल रहे ।
जातीय हिंसा की आग को आखिर कौन दे रहा आॅक्सीजन..? 
बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुक्रवार के कारोबार में 31074.07 अंक की ऊचांई छूने के बाद सप्ताहांत 563.29 अंक अर्थात 1.84 प्रतिशत की बढोत्तरी के साथ 31028.21 अंक पर बंद हुआ । गुरूवार को मई माह के वायदा एवं विकल्प सौंदों की पूर्ति के लिये लिवाली का जोर रहने से 448 अंक बढ़ा था। गुरूवार को विदेशी संस्थानों ने 589.11 करोड़ की लिवाली की थी। शुक्रवार को इसमें 278.18 अंक की बढोत्तरी रही थी। इससे पहले के तीन कारोबारी दिवस में सूचकांक और बिकवाली का दबाव दिखा था। कारोबार के अंतिम दो दिनों में संवेदी सूचकांक से जुड़े शेयरों में अच्छी खरीद देखी गयी थी।
उत्तर प्रदेश में 222 पीसीएस अफसरों के तबादले.. मुज़फ्फरनगर के अपर ज़िलाधिकारी बदले
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी पहली बार 9600 अंक को पार करने के बाद सप्ताहांत 167.20 अंक अर्थात 1.77 प्रतिशत की बढत से 9595.10 अंक पर बंद हुआ । बीते सप्ताह नरेन्द्र मोदी सरकार ने 26 मई को अपने तीन साल भी पूरे किये । मोदी सरकार के तीन साल की अवधि में सेंसेक्स ने 25.53 प्रतिशत की छलांग लगायी । एनएससी के निफ्टी ने इस दौरान 30.38 प्रतिशत की उड़ान भरी। सप्ताह के दौरान दवाईयों कंपनियों के शेयर में जमकर बिकवाली हुई । ल्यूपिन का शेयर 15.44 प्रतिशत सिप्ला 12.5 , सनफार्मा 12.18 और डॉक्टर रेड्डी लैब 9.20 प्रतिशत लुढके। बजाज ऑटो, एसबीआई, अडानी पोट्र्स, पावर ग्रिड , एनटीपीसी, ओनजीसी और कोल इंडिया के शेयर को भी खासा नुकसान हुआ । सेंसेक्स से जुड़े शेयरों में टाटा मोटर्स को सबसे अधिक 8.53 प्रतिशत की बढत मिली। आईटीसी 7.96 प्रतिशत बढ गया। आईसीआईसीआई बैंक , टाटा स्टील, मारूति, एचडीएफसी बैंक और इन्फोसिस को अच्छा लाभ मिला।

Share it
Top