महिला सहित तीन लोगों पर ठगी का आरोप लगाया, मुकदमा दर्ज

महिला सहित तीन लोगों पर ठगी का आरोप लगाया, मुकदमा दर्ज

गढ़ीपुख्ता। क्षेत्र के गांव खेडकी निवासी एक युवक द्वारा एक महिला सहित तीन लोगों पर आर्मी में नौकरी दिलाने के नाम पर साढ़े छह लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय से कार्रवाई की गुहार लगायी। पीएमओ ने मामले का संज्ञान लेते हुए एसपी शामली को आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए। एसपी के निर्देश पर गढीपुख्ता पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है, लेकिन मामला कुछ और ही निकला। पुलिसिया जांच में पता चला कि शिकायत करने वाले युवक ने गांव के ही कई लोगों से करीब 20 लाख रुपये के ठगी की है और मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही गायब है। गढीपुख्ता थाना क्षेत्र के गांव खेडकी निवासी दीपक पुत्रा रमेशचंद ने कुछ दिन पूर्व प्रधानमंत्री कार्यालय को शिकायती पत्रा भेजकर आरोप लगाया था कि गांव के ही ओमप्रकाश पुत्र श्यामा ने उसकी मुलाकात मेरठ के सुभारती मेडिकल के सामने रहने वाले आदेश से कराई थी। आदेश ने उसे बताया कि अगर वह साढ़े छह लाख रुपये दे दे, तो उसकी आर्मी में नौकरी लग सकती है, जिस पर वह उसके झांसे में आ गया और रुपये देने के लिए तैयार हो गया।
व्यापमं घोटाला: सुप्रीम कोर्ट ने मप्र में 634 मेडिकल छात्रों की दाखिला प्रक्रिया रद्द की.!
आदेश ने दीपक को आयशा बेगम व मौहम्मद सलीम निवासीगण पश्चिम बंगाल कोलकाता के खाता नंबर देकर रुपये जमा कराने को कहा, जिस पर उसने साढ़े छह लाख रुपये उनके खाते में जमा करा दिए। आदेश ने दीपक को शीघ्र ही नियुक्ति पत्र देने का वादा किया, लेकिन कई बार कहने के बावजूद भी आदेश उसे टरकाता रहा और जब उसने ज्यादा दबाव दिया, तो आदेश ने इंटरनेट के माध्यम से एक नियुक्ति पत्र उसे देते हुए उसे आर्मी के सेंटर जाकर नौकरी ज्वाइन करने की बात कही। वह ज्वाइनिंग लैटर लेकर आर्मी सेंटर पहुंचा, लेकिन वहां मौजूद अधिकारियों ने उसे फर्जी बताते हुए उसे वापस भेज दिया। जब उसने आदेश से अपने रुपये वापस मांगे, तो उसके साथ गाली-गलौच करते हुए जान से मारने की धमकी दी। उसने इस संबंध में पुलिस को भी तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, जिसके बाद उसने प्रधानमंत्री से कार्रवाई की मांग की थी। बताया जाता है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने मामले का संज्ञान लेते हुए एसपी शामली को मामले में मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए। एसपी के निर्देश पर गढीपुख्ता पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी, लेकिन जांच पड़ताल में मामला कुछ अलग ही निकला। पुलिस को जांच में पता चला कि दीपक ने गांव खेडकी के कई लोगों से 20-22 लाख रुपये की ठगी कर रखी है और इसी के चलते वह सामने नहीं आ रहा है। बताया जाता है कि दीपक देहरादून में किसी स्थान पर रह रहा है और उक्त ठिकाने की जानकारी पुलिस को नहीं मिल पा रही है। थानाध्यक्ष गढीपुख्ता ने बताया कि पुलिस दीपक की तलाश में जुटी हुई है।

Share it
Share it
Share it
Top