मतदाता बताएगा रिजेक्टेड माल कौन ?

मतदाता बताएगा रिजेक्टेड माल कौन ?

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री उम्मीदवार शीला दीक्षित पर जबरदस्त हमला करते हुए पूर्व बसपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि ‘कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री के रूप में पेश की गई शीला दीक्षित दिल्ली का रिजेक्टेड माल है।’ इस पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि यह महिला विरोधी मानसिकता वाली टिप्पणी है। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने तो मौर्या के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग तक की है। जहां तक राजनीतिक विश्लेषकों का सवाल है तो उनका तो साफ कहना है कि मौर्या तो खुद बसपा के बागी नेता हैं और उनका अपना कोई मयार नहीं है अतः अब उन्हें पार्टी स्तर पर जवाब देना सही मायने में उनकी उपयोगिता सिद्ध करना होगा।
आंख में धूल झोंकने का प्रयास
इसलिए कम से कम इतना तो इंतजार करना ही चाहिए कि मतदाता तय कर दे कि रिजेक्टेड माल कौन है। वैसे भी पार्टी ने शीला को चुनाव में उतारा है जबकि मौर्या को बसपा ने एक तरह से निकाला है, इसलिए एक रिजेक्टेड को सभी रिजेक्टेड ही नजर आएंगे। इसमें आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

Share it
Share it
Share it
Top