मंद हुई सोने-चांदी की चमक

मंद हुई सोने-चांदी की चमक

नई दिल्ली। वैश्विक बाजारों में सोने-चांदी की कीमतों में रही गिरावट के बीच घरेलू स्तर पर वैवाहिक मांग सुस्त पडऩे से सोना 160 रुपये फिसलकर बीते सप्ताह 29,370 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया और इसी तरह चांदी भी औद्योगिक मांग कमजोर पडऩे से 570 रुपये की भारी साप्ताहिक गिरावट के साथ 39,900 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गयी। समीक्षाधीन सप्ताह में वैश्विक स्तर पर दोनों कीमती धातुओं की कीमतें गिर गयीं। सप्ताहांत पर सोना हाजिर 10.66 डॉलर लुढ़ककर 1266.20 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। इसी तरह से अमेरिका सोना वायदा भी शुक्रवार को 11.40 डॉलर की साप्ताहिक गिरावट के साथ 1268.80 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। चांदी में भी नरमी देखी गयी और यह सप्ताहांत पर 17.15 डॉलर प्रति औंस बोली गयी। कारोबारियों के अनुसार बीते सप्ताह डॉलर के मुकाबले भारतीय मुद्रा मजबूत हुई है जिससे दोनों कीमती धातुओं पर दबाव बढा है। इसके अलावा भू राजनैतिक परिस्थितियों के कारण निवेशकों के सशंकित होने तथा स्थानीय खुदरा जेवराती मांग कमजोर पडऩे से दोनों कीमतों धातुओं के भाव पर असर पड़ा है।
वैश्विक स्तर पर रही गिरावट के साथ घरेलू स्तर पर वैवाहिक जेवराती मांग सुस्त पडऩे के कारण गत सप्ताह सोना स्टैंडर्ड 160 रुपये लुढ़ककर 29,370 रुपये प्रति दस ग्राम पर रहा। सोना बिटुर भी 160 रुपये गिरकर 29,220 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया लेकिन गिन्नी की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ और यह 24,400 रुपये प्रति आठ ग्राम के स्तर पर टिकी रही। चांदी में बीते सप्ताह गिरावट का रूख हावी रहा। पूरे सप्ताह 40 हजार रुपये प्रति किलो से ऊपर रही चांदी हाजिर शनिवार को 570 रुपये की भारी साप्ताहिक गिरावट लेकर 39,900 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गयी। चांदी वायदा भी 660 रुपये फिसलकर 39,615 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही। हालांकि, आलोच्य सप्ताह में सिक्का लिवाली और बिकवाली एक- एक हजार रुपये की तेजी के साथ क्रमश: 73 हजार और 74 हजार रुपये प्रति सैकड़ा पर पहुंच गये। विश्लेषकों का कहना है कि विदेशों से मिले कमजोर संकेतों के साथ घरेलू बाजार में स्थानीय आभूषण विक्रेताओं तथा खुदरा विक्रेताओं की मांग सुस्त पडऩे से सोने की कीमतों में गिरावट रही है।

Share it
Top