ब्लाइंड क्रिकेट को मान्यता पर सरकार गंभीर: गोयल

ब्लाइंड क्रिकेट को मान्यता पर सरकार गंभीर: गोयल

नई दिल्ली। केंद्रिय खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा है कि सरकार ब्लाइंड क्रिकेट को मान्यता देने के लिए गंभीरता से विचार कर रही है और इस खेल को बढ़ावा देना चाहती है। गोयल ने भारत की मेजबानी में रविवार से शुरू होने जा रहे दूसरे ब्लांइड ट्वंटी-20 विश्वकप के लिये भारतीय टीम को अपनी शुभकामनाएं देते हुए यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार ब्लाइंड क्रिकेट को मान्यता देने पर एक सकारात्मक सोच के साथ विचार कर रही है। विश्वकप 29 जनवरी से 12 फरवरी तक देश के 11 शहरों में आयोजित में आयोजित किया जाएगा। विश्वकप में मेजबान भारत का पहला मुकाबला 30 जनवरी को बंगलादेश से दिल्ली के आईआइटी मैदान में होगा जबकि उसकी दूसरी भिड़ंत 31 जनवरी को फरीदाबाद के नाहरसिंह स्टेडियम में होगी। लेकिन सबसे बहुप्रतीक्षित मुकाबला एक फरवरी को राजधानी के फिरोजशाह कोटला मैदान में खेला जाएगा जब भारत और पाकिस्तान आमने सामने होंगे। खेल मेंत्री ने कहा, विश्व विजेता ब्लांइड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शेखर नाइक और क्रिकेट एसोसिएशन फॉर ब्लांइड इन इंडिया के अध्यक्ष महंतेश जीके ने इस खेल को आगे ले जाने की दिशा में बहुत अधिक काम किया है।
हिन्दू युवा वाहिनी के बागी तेवर कम नहीं हुए, पांच और प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की..!
पद्मश्री सम्मान सिर्फ शेखर को ही नहीं मिला है बल्कि पूरी ब्लाइंड क्रिकेट को मिला है। हमारा मंत्रालय इसे हर तरह की मदद देने को तैयार है। गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्लाइंड क्रिकेट को बढ़ावा देने की दिशा में सराहनी काम कर रहे हैं और शेखर नाइक को पुस्कार मिलना ब्लाइंड क्रिकेट के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को दिखाता है। उन्होंने कहा कि सरकार बहुत जल्द स्पोटर्स पोर्टेल टैलेंट सर्च की शुरुआत करेगी ताकि विभिन्न खेलों में प्रतिभाशाली खिलाडियों की पहचान की जा सके और उन्हें प्रतिभा दिखाने का मौका मिल सके।

Share it
Top