ब्याज दरों के स्थिर रहने से गिरा बाजार

ब्याज दरों के स्थिर रहने से गिरा बाजार

 ब्याज दरों के स्थिर रहने से गिरा बाजारमुंबई।  रिजर्व बैंक के ब्याज दरों को यथावत रखने से हतोत्साहित निवेशकों की चौतरफा बिकवाली के कारण आज शेयर बाजार की पिछले तीन दिनों की तेजी थम गई। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 97.41 अंक अर्थात 0.35 फीसदी उतरकर 28,085.16 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 33.10 अंक यानी 0.38 फीसदी टूटकर 8700 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 8,678.25 अंक पर बंद हुआ। रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने चालू वित्त वर्ष की तीसरी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो दर 6.5 प्रतिशत पर स्थिर रखी है।इससे माँग को समर्थन देने के लिए ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद कर रहे निवेशकों को निराशा हाथ लगी और उनकी बिकवाली से सेंसेक्स और निफ्टी दोनों गिरकर बंद हुये। हालाँकि अमेरिका में जारी रोजगार के मजबूत आँकड़ों से विदेशी बाजारों में कायम तेजी से घरेलू बाजार को कुछ खास समर्थन नहीं मिला। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.34, जापान का निक्की 0.69, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.62 और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.72 फीसदी चढ़ा जबकि हांगकांग के हैंगसैंग में 0.13 फीसदी गिरावट रही। बीएसई की बड़ी कंपनियों की तरह छोटी और मझौली कंपनियों पर भी बिकवाली का दबाव रहा।
जीएसटी से महंगाई बढ़ना जरूरी नहीं : राजन
इससे मिडकैप 0.35 फीसदी उतरकर 12,779.97 अंक और स्मॉलकैप 0.45 फीसदी टूटकर 12,338.22 अंक पर रहा।
शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 106.5 अंकों की तेजी के साथ 28,289.22 अंक पर खुला आैर यही इसका उच्चतम स्तर भी रहा।
लेकिन मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा के बाद बिकवाली शुरू हुई और यह गिरता हुआ बीच सत्र बाद 27,956.77 अंक के न्यूनतम स्तर पर आ गया। संभलने की कोशिशों के बावजूद अंत में पिछले दिवस के 28,182.57 अंक की तुलना में 97.41 अंक उतरकर 28,085.16 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी भी 16.45 अंक की बढ़त के साथ 8,727.80 अंक पर खुला और कुछ देर बाद 8,728.35 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुँचा।बिकवाली के दबाव में दोपहर बाद यह 8,638.20 अंक के न्यूनतम स्तर पर आ गया। अंत में गत दिवस के 8711.35 अंक के मुकाबले 33.10 अंक फिसलकर 8,678.25 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 2887 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1572 में बिकवाली और 1182 में लिवाली हुई जबकि 133 स्थिर रहे। 

Share it
Top