बाल कथा: मुफ्त का काम

बाल कथा: मुफ्त का काम

 विश्व विख्यात हास्य अभिनेता चार्ली चैपलिन हंसने-हंसाने और मजाक करने का कोई भी अवसर खोना नहीं चाहते थे। एक बार उनका बेटा गंभीर रूप से बीमार पड़ गया तो डॉक्टर ने चैपलिन से कहा, मरीज को स्वस्थ होने के लिए दवाइयों के साथ भरपूर मनोरंजन की भी जरूरत है।’
चार्ली चैपलिन ने अपने एक हास्य अभिनेता मित्र को बुलाया। वह कई दिन चैपलिन के बेटे के साथ रहकर उसका मनोरंजन करता रहा।
कुछ दिन बाद चैपलिन के एक परिचित ने उनसे प्रश्न किया, ‘आप सबसे बड़े हास्य कलाकार है। आपने अपने बेटे का मनोरंजन खुद करने के बजाए इस काम में अपने मित्र को लगाया?’
चैपलिन हंसे, ‘यार, मैं एक दिन की शूटिंग या शो के हजारों रूपये लेता हूं और मेरा दोस्त यह काम मेरे लिए मुफ्त में कर गया।’
इस बात पर चार्ली चैपलिन और उनका परिचित दोनों ही ठहाका मारकर हंस पड़े।
– ए. पी. भारती

Share it
Top