बापू का अपमान !

बापू का अपमान !

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद स्थित सिविल लाइन इलाके में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति के अपमान का मामला सामने आया तो चारों ओर से चिंता जाहिर की जाने लगी। चिंता इस बात की कि बापू का अपमान कोई वैसे कर सकता है, जबकि देश आजाद हुए सात दशक होने को आए हैं। दरअसल बापू की प्रतिमा पर किसी ने समाजवादी पार्टी की टोपी और गले में पार्टी वाला दुपट्टा पहना दिया। यही नहीं बापू की मूर्ति से चश्मा भी गायब था। इसका अर्थ यही लगाया गया कि किसी सिरफिरे ने जानबूझकर ऐसा किया है और देखते ही देखते घटना की निंदा के साथ ही इसके विरोध में बयान दिए जाने लगे और लोग भी एकत्रित होने लगे।
अब कहते हैं ‘मौन’ ही ठीक था
बात प्रशासन तक पहुंची तो मामले की मजिस्ट्रेट जांच की घोषणा कर दी गई। कुच्छ नेता कहते हैं कि इस घटना के पीछे समाजवादी पार्टी को बदनाम करने की साजिश भी हो सकती है क्योंकि यह घटना उस समय हुई है जबकि मेयर के उपचुनाव के दौरान यहां समाजवादी पार्टी का कार्यक्रम संपन्न हुआ था। ऐसे शरारतियों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

Share it
Share it
Share it
Top