बहुत लाभ हैं विनम्रता के…विनम्रता का गुण अपनाइये और जीवन में सफलता पाइये

बहुत लाभ हैं विनम्रता के…विनम्रता का गुण अपनाइये और जीवन में सफलता पाइये

बचपन से ही माता-पिता द्वारा दिये गये संस्कार व अब तक के जिये इतने लम्बे जीवन के आधार पर जो बात अनुभव की है, वह यह है कि जो दुर्लभ से दुर्लभ वस्तु हम किसी बल से प्राप्त नहीं कर सकते, वह हमें विनम्रता के बल पर सहज ही प्राप्त हो जाती हैं।
चाहे कोई भी क्षेत्र हो, हम विनम्रता से अपना काम बहुत ही आसान बना सकते हैं। आप कहीं भी जाइये, यदि आपने किसी से बैठने के लिये विनम्रतापूर्वक सीट मांगी तो कोई वजह नहीं कि जगह न होते हुये भी वह आपको इंकार कर दे।
विनम्रता से मनुष्य स्वयं तो श्रेष्ठ बन ही जायेगा, अपनी भावी-पीढ़ी को भी सुसंस्कारित कर सकता है।
एक दिन की बात है। हमें रात्रि की गाड़ी से किसी दूसरे शहर जाना था। रात्रि का समय था। हम लोग स्टेशन पर बैठे गाड़ी की प्रतीक्षा कर रहे थे। गाड़ी आई तो हमने देखा कि सभी डिब्बों में दरवाजे अंदर से बंद थे। काफी प्रयत्न करने के बावजूद कोई अंदर से दरवाजा खोलने को तैयार न था।
बाल जगत: तरह-तरह की चोरियां

गाड़ी छूटने का समय हो गया था। तभी हमने उसी नुस्खे का इस्तेमाल किया और विनम्रतापूर्वक दरवाजा खोलने का आग्रह किया। तभी एक सज्जन ने आकर दरवाजा तो खोला ही, बल्कि बैठने के लिये अपने पास ही सीट भी दे दी। इसके विपरीत एक व्यक्ति ने सीट प्राप्त करने के लिये जब अपना रौद्र रूप दिखाया तो सीट तो उन्हें नहीं मिल सकी अपितु हाथापाई की नौबत जरूर आ गई। इसीलिये कहा गया है कि विनम्रता का गुण अपनाइये और जीवन में सफलता पाइये।
– अल्पना गोयल

Share it
Share it
Share it
Top