बच्चा संवेदनशील हो तो?

बच्चा संवेदनशील हो तो?

पहले भी संवेदनशील बच्चे होते थे, पर तब माता-पिता में जागरूकता की कमी के कारण उनके साथ भी आम बच्चों की तरह व्यवहार किया जाता था पर अब समय बदला है।
माता-पिता अपने बच्चों के प्रति अधिक जागरूक हुए हैं और बच्चों पर पूरा ध्यान केंद्रित कर उन्हें आगे बढऩे में मदद करते हैं ताकि संवेदनशील बच्चे भी पूरे विश्वास से समस्याओं का मुकाबला कर सकें। संवेदनशील बच्चों को हैंडल करना थोड़ा मुश्किल तो होता है पर अनुशासन और प्यार उन्हें आसानी से काबू में लाया जा सकता है।
– ऐसे बच्चों की बात बात पर आलोचना न करें।
– संवेदनशील बच्चों की दूसरे बच्चों के साथ तुलना न करें।गरीबों के लिए शौचालय बना फंदा
– संवेदनशील बच्चों को थोड़ा अतिरिक्त प्यार और केयर दें ताकि वे उपेक्षित महसूस न करें।
– ऐसे बच्चों के साथ रिवार्ड पालिसी अपनाएं ताकि वे प्रोत्साहित होकर काम करे और अपना बेस्ट कर सके।
– अगर कभी बच्चा किसी क्षेत्र में असफल हो तो उसके किए प्रयासों की प्रशंसा कर उसे पुन: और अधिक ध्यान और मेहनत से आगे बढऩे में मदद करें।
– समस्या को कैसे सुलझाया जाता है, इस कला का उनमें विकास करें ताकि उनमें आत्मविश्वास बढ़े।
कैसे रूकेगा किसानों की आत्महत्याओं का सिलसिला
– संवेदनशील बच्चा छोटी छोटी बात पर शिकायत करता है या रोता हैं तो उसे समझाएं अपनी भावना को बिना रोए और शिकायत भरे लहजे का प्रयोग ना कर स्पष्ट रूप से व्यक्त करने की कला सिखाएं।
– बच्चे का व्यवहार धीरे धीरे प्यार, धैर्य और अनुशासन को ध्यान में रखकर बदलने का प्रयास करें। उसकी ताकत को पहचानें और उसे और मजबूत बनाने में मदद करें।
– नीतू गुप्ता

Share it
Top