ब्रेकिंग न्यूज़
Search

बंगलादेश प्रशासनिक अधिकारियों के प्रतिनिधि दल ने किया जनपद मेरठ का भ्रमण

मेरठ। बंगलादेश से आये 30 प्रशासनिक अधिकारियों के 34 वें कैरियर प्रशिक्षण दल ने बुधवार को कलैक्ट्रेट स्थित बचत भवन में जनपद की कार्य प्रणाली एवं कानून व्यवस्था के बारे में जाना। जिलाधिकारी बी. चन्द्रकला की अध्यक्षता में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिनिधि दल को यहां की प्रशासनिक, पुलिस एवं कानून व्यवस्था, विकास कार्यो की व्यवस्थाओं को जन जन तक लागू कराने के सम्बंध में विस्तृत जानकारी दी गयी तथा उन्हें यहां सांसद, विधायक, जिला पंचायत, प्रशासन नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायतों, क्षेत्र पंचायत एवं ग्राम पंचायत के चुनाव से लेकर उनके क्रियाकलापों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी।
जिलाधिकारी बी चन्द्रकला ने बंगलादेशी प्रशासनिक दल को जनपद मेरठ की प्रशासनिक कार्यप्रणाली के बारे में विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि जिलाधिकारी के अधीन अपर जिलाधिकारी प्रशासन द्वारा प्रशासनिक सम्बंधी कार्यो को किया जाता है तथा जनपद में राजस्व सम्बंधी कार्य हेतु अपर जिलाधिकारी वित्त/राजस्व की तैनाती की जाती है। जनपद को तीन तहसीलों में विभाजित किया गया है तथा तीनों तहसीलों में अलग अलग उप जिलाधिकारी तैनात किये गये है, जिनके अधीन तहसीलदार सहित अन्य कार्मिक प्रशासनिक कार्य करते है। उन्होंने बताया कि जनपद के विकास एवं सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुचाने सम्बंधी कार्यो को मुख्य विकास अधिकारी के निर्देशन में कराया जाता है।

तृणमूल कांग्रेस का नोटबंदी पर राष्ट्रपति से हस्तक्षेप का अनुरोध


जिलाधिकारी बी चन्द्रकला ने बंगलादेशी प्रशासनिक दल को सम्बोधित करते हुए मेरठ जनपद की ऐतिहासिक सांस्कृतिक भौगोलिक एवं आर्थिक संरचना के बारे में वृहद प्रकाश डालते हुए बताया कि जनपद मेरठ का इतिहास पांडव एवं कौरवों की राजधानी थी जो आज भी उनके राजधानी हस्तिनापुर में उनके अवशेष उस काल की गरिमा को दर्शाते है। जिलाधिकारी ने मेरठ जनपद की स्थापना से लेकर विभिन्न समूहों पर अलग अलग जनपदों में बटवारे के बारे में तथा भौगोलिक स्थिति के बारे में विस्तार से अवगत कराया।

मुलायम ने जड़ा रामगोपाल पर पार्टी तोड़ने का आरोप..बोले, अखिलेश रामगोपाल की ही मान रहा है !


जिलाधिकारी ने भारतीय स्वंतत्रता संग्राम 1857 की क्रान्त में मेरठ के योगदान के बारे में भी प्रकाश डाला। उन्होनें कहा कि मेरठ का कैन्टोमेंट क्षेत्र आज भी स्वतंत्रता संग्राम का साक्षी है। उन्होंने बताया कि मेरठ जनपद कृषि क्षेत्र में काफी अग्रणी है जहा पर मुख्यतरू गन्ना, गेहू, ज्वार, आलू, एवं फल-सब्जियों की प्रचुर मात्रा में खेती कर उत्पादन किया जाता हैं तथा उनकी सिंचाई का मुख्य स्रोत नहरें है। कृषि उत्पादन की वजह से यहां के किसान काफी सम्पन्न एवं खुशहाल है। उन्होंने बताया कि मेरठ का स्पोर्टस सामान विश्व में प्रख्यात है यहां के क्रिकेट बैट व बॉल तथा अन्य खेल के सामान विदेशों में निर्यात किये जाते है।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी नगर मुकेश चन्द्र, उप जिलाधिकारी सदर हर्षिता माथुर, उप जिलाधिकारी सरधना राकेश कुमार सिंह, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अरविन्द सिंह, एसीएम कुमार भुपेन्द्र सिंह, एसीएम सतेन्द्र बहादुर सिंह, अपर नगर आयुक्त राम भरत तिवारी सहित परियोजना निदेशक आरके त्रिवेदी, डीपीआरओ अनिल कुमार सिंह, कृषि गन्ना, पीडब्ल्यूडी सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।