फेड ने ब्याज दरें रखीं स्थिर

फेड ने ब्याज दरें रखीं स्थिर

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सत्तासीन होने के बाद हुई फेडरल रिजर्व की पहली बैठक में ब्याज दर स्थिर रखने का फैसला किया गया है। बुधवार को समाप्त दो दिवसीय बैठक के बाद जारी बयान में फेड ने ब्याज दर में अगली वृद्धि के बारे में कोई संकेत नहीं दिया है। गत दिसंबर में ब्याज दर बढ़ाने की घोषणा करते समय फेडरल रिजर्व ने कहा था कि वह इस साल तीन बार ब्याज दर में बढ़ोतरी करेगा। लेकिन, इस बैठक में इस संबंध में कोई चर्चा नहीं की गयी। इस बीच पिछले वर्ष की चौथी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर उम्मीद से ज्यादा सुस्त पड़ गयी है। विश्लेषकों का कहना है कि अब आगामी जून तक ब्याज दर में बढ़ोतरी की संभावना क्षीण हैं। गत दिसंबर में ब्याज दर में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि की गयी थी, जो पिछले एक दशक में दूसरी बार की गयी बढ़ोतरी थी। अपने बयान में फेडरल रिजर्व ने कहा है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है। लेकिन, यह इतनी भी मजबूत नहीं है कि ब्याज दर बढ़ाने का निर्णय लिया जाये। गत दिसंबर में फेडरल ओपन मार्केट कमेटी की बैठक के बाद मिली सूचनाओं के अनुसार, लेबर मार्केट सु²ढ़ हो रहा है और आर्थिक गतिविधियाँ भी बढ़ रही हैं। रोजगार में भी बढ़ोतरी हुई है, बेरोजगारी दर निचले स्तर पर है तथा पारिवारिक व्यय में तेजी आ रही है। महँगाई के बारे में फेड का कहना है कि जीवनयापन का खर्च बढ़ा है, लेकिन फिर भी यह दो प्रतिशत के लक्ष्य से कम है। फेड ने यह संकेत जरूर दिया है कि इस साल वह मौद्रिक नीति सख्त करने के रास्ते पर है। उसके मुताबिक, अभी रोजगार सृजन का माहौल ठीक है, महँगाई बढ़ गयी है और आर्थिक भरोसा भी बढ़ रहा है। लेकिन फेड के नीति निर्माता अभी राष्ट्रपति की आर्थिक नीतियों के संभावित प्रभाव की स्पष्टता की प्रतीक्षा में हैं। उसके अनुसार, हाल में उपभोक्ता और कारोबारी धारणा में सुधार हुआ है। श्री ट्रंप ने कर दर में कटौती और सरकारी खर्च में वृद्धि आदि से विकास का वादा किया है, जिससे महँगाई दर बढने की संभावनायें प्रबल होती हैं।

Share it
Top