फूड पॉयजनिंग का इलाज

फूड पॉयजनिंग का इलाज

foodफूड पॉयजनिंग दूषित खाना खाने से होती है। यह ढाबे के ही नहीं, फाइव स्टार होटल के खाने से भी हो सकती हे। चाहे खाना घर पर बना हो या किसी ढाबे होटल में, उसकी स्वच्छता का ध्यान रखना जरूरी है। अगर भोज्य पदार्थों पर साफ सफाई का ध्यान ना रखा जाए तो उसमें हानिकारक बैक्टीरिया पहुंच जाते हैं। सालमोनेला, ई कोलाई या विब्रियो कॉलरी जैसे बैक्टीरियाज की मौजूदगी कहीं भी होगी, उस खाने को प्रदूषित कर फूड पाइजनिंग के खतरे को बढ़ा सकती है।
फूड पॉइजनिंग के लक्षण:-
फूड पॉयजनिंग के लक्षण शरीर में कई तरह से दिखने लगते हैं, जैसे:-
– पेट में तेज दर्द का होना।
– हर 15 से 30 मिनट के अंतराल में उलटी या दस्त का लगना।
– खाने का न पचना।
– बुखार आना या पेट में क्रैम्प्स पडऩा।
– शरीर बहुत ज्यादा थका हुआ और कमजोरी महसूस करना जिससे शरीर बेजान सा लगने लगता है।
…तो ये है ‘कहां हैं अच्छे’ दिन वाले कमेंट पर कपिल को पीएम मोदी का जवाब !

– इसका समय पर उपचार करना चाहिए नहीं तो इम्युनिटी कमजोर हो सकती है जिससे डीहाइडेऊशन और नर्वस सिस्टम पर प्रभाव पड़ सकता है। ,
– बूढ़े, बच्चे, कमजोर और गर्भवती महिलाएं इसकी चपेट में आसानी से आ सकते हैं।
फूड पॉयजनिंग के कारण:-
फूड पॉयजनिंग कई तरह से हो सकता है –
– बासा खाना खाने से।
– सब्जियां अच्छे से ना धुली और पकी होने से भी।
– खाने के सामान को ढक कर न रखने से हानिकारक जीवाणु खाने में पहुंच जाते हैं।
– सड़क से खुला खाना खाने से।
– फूड पॉइजनिंग की समस्या सिर्फ दूषित खाने की वजह से नहीं होती। कई बार यह हमारे गंदे हाथों से खाना खाने से भी हो सकती है।
फूड पॉयजनिंग से राहत पाने के लिए उपाय:-
– ओआरएस का घोल हमारे शरीर में तुरंत ऊर्जा पहुंचाता है, साथ ही शरीर में होने वाले पानी की कमी को दूर करता है।
राहुल प्रसाद भटनागर ने संभाला मुख्य सचिव पद का कार्यभार
– आप घर पर भी ओआरएस का घोल बना सकते हैं जिसमें आप एक गिलास उबले पानी में चुटकी भर नमक और 1 चम्मच चीनी डाल कर हर एक घंटे के अंतराल में पिएं। आप शिकंजी भी पी सकते हैं।
– घर पर जमा दही या उससे छाछ बनाकर मरीज को दे सकते हैं।
– 10 से 12 तुलसी की पत्तियों को पानी में उबालकर ठंडा करके पीने से भी आराम मिलता है।
– हल्का भोजन करना चाहिए जो आसानी से पच सके। जैसे खिचड़ी, सब्जियों का सूप आदि।
-शिवांगी झाँबरॉयल बुलेटिन के पहले सर्वे …कौन बने उत्तर प्रदेश में 2017 में मुख्यमंत्री …?
…का परिणाम आप इसी सप्ताह.इसी साईट ..
www.royalbulletin.com
 पर पढ़ सकते है . …आप अगर देश,प्रदेश के साथ ही  अपने आस-पास की ताज़ा खबर से जुड़े रहना चाहते है तो अभी रॉयल बुलेटिन का मोबाइल एप डाउन लोड करे ….गूगल के प्ले-स्टोर में जाइये और टाइप कीजिये royal bulletin और रॉयल बुलेटिन की एप डाउनलोड कर लीजिये या आप इस लिंक पर क्लिक करके भी एप  डाउनलोड कर सकते है …..http://goo.gl/ObsXfO

Share it
Share it
Share it
Top