फलों के सम्मिश्रण का लाभ..सेवन से कई रोगों से मिलेगा छुटकारा

फलों के सम्मिश्रण का लाभ..सेवन से कई रोगों से मिलेगा छुटकारा

 Fruit and vegetablesफल एवं सब्जियों के सम्मिश्रण स्वरूप या रस के सेवन से कई रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है। वैसे रस की तुलना में साबुत फल अधिक लाभ पहुंचाते हैं।
अनिद्रा- सेब, अंगूर, गाजर, नींबू लाभ पहुंचाता है।
दमा- नींबू, मूली, गाजर, अनन्नास फायदा देता है।
अनीमिया- चुकंदर, अंगूर, नींबू, पालक, स्ट्राबेरी फलदायी हैं।
मुंहासे-गाजर, खीरा, टमाटर, अंगूर, पालक लाभप्रद हैं।
गठिया- खीरा, संतरा, अंगूर, पालक, आलू, नींबू टमाटर लाभकारी हैं।
मोटापा- फूलगोभी, अनन्नास, संतरा, अंगूर, फायदा देता है।
टांसिल्स- अनन्नास, नींबू, पालक, गाजर, नांरगी, फलदायी है।
उच्च रक्तचाप- खीरा, गाजर, अंगूर, चुंकदर, संतरा लाभ पहुंचाता है।
कब्ज- सेब, पालक, अंगूर, नाशपाती, लाभदायी है।
सर्दी जुकाम- प्याज, पालक, अनन्नास, संतरा, गाजर लाभ देता है।
ब्रोंकाइटिस- पालक, टमाटर, गाजर, पालक, अनन्नास लाभकारी है।
अम्लता- पालक, नींब,ू अंगूर, नारंगी, पालक, फायदा देता है।
न्यूराइटिस- चुकंदर, गाजर, सेब, संतरा, अनन्नास फलप्रद है।
मधुमेह- पालक, नींबू, संतरा, फल देता है।
साइनस- प्याज, मूली, गाजर, टमाटर पहुंचाता है।
सूजन- गाजर, पालक ,नींब ककड़ी, अंगूर, सेब, आलू लाभ देता है। फल या सब्जी साबुत एवं साफ सुथरी लें। इनका रस लेते समय इसमें शक्कर या नमक न मिलाएं अन्यथा रस का गुण धर्म बदल जाएगा जो लाभ की बजाय हानि पहुंचाएगा। रस लेने के आधा घंटा पूर्व या पश्चात न पानी पिएं। तभी रस का सही लाभ मिलेगा।
– सीतेश कुमार द्विवेदीadd-royal-copy

Share it
Top