प्रणय और श्रीकांत सेमीफाइनल में

प्रणय और श्रीकांत सेमीफाइनल में

जकार्ता। भारत के एच एस प्रणय ने उलटफेर का सिलसिला जारी रखते हुये शुक्रवार को आठवीं सीड चीन के चेन लोंग को 21-18 16-21 21-19 से शिकस्त देकर इंडोनेशिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया।

प्रणय के साथ किदाम्बी श्रीकांत भी सेमीफाइनल में पहुंच गये हैं। श्रीकांत ने चीनी ताइपे के जू वेई वांग को 21-15 21-14 से पराजित किया। प्रणय ने अपना मुकाबला एक घंटे 15 मिनट के संघर्ष में जीता जबकि श्रीकांत ने अपना मैच मात्र 37 मिनट में निपटा दिया। गैर वरीय प्रणय ने पिछले राउंड में विश्व रैंङ्क्षकग में तीसरे नंबर के खिलाड़ी और शीर्ष वरीय मलेशिया के ली चोंग वेई को धूल चटाई थी और क्वार्टरफाइनल में उन्होंने आठवीं रैंकिंग के चेन लोंग का शिकार कर लिया। विश्व रैंकिंग में 25वें नंबर के खिलाड़ी प्रणय का इससे पहले चेन लोंग के खिलाफ 0-3 का रिकार्ड था लेकिन अब उन्होंने इस दिग्गज चीनी खिलाड़ी के खिलाफ करियर की पहली जीत हासिल कर ली। प्रणय ने इस तरह 24 घंटे के भीतर रियो ओलंपिक के रजत विजेता चोंग वेई और स्वर्ण विजेता चेन लोंग का शिकार किया। प्रणय का अगला मुकाबला जापान के काजूमासा सकई से होगा जिनके खिलाफ उनका 0-1 का रिकार्ड है। जापानी खिलाड़ी विश्व रैंकिंग में 47वें नंबर पर हैं। प्रणय और चेन लोंग का मुकाबला रोमांचक उतार चढ़ाव से भरपूर रहा। प्रणय ने पहले गेम में 2-4 से पिछडऩे के बाद लगातार पांच अंक हासिल किये और फिर 7-4 की बढ़त बनाकर पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने अपनी बढ़त 14-8 17-11 20-15 से मजबूत करते हुये पहला गेम 21-18 पर समाप्त किया। चीनी खिलाड़ी ने दूसरे गेम में शानदार वापसी की और 10-7 की बढ़त बनाई। प्रणय ने संयम के साथ खेलते हुये चेन लोंग को 16-16 की बराबरी पर जा पकड़ा। लेकिन चेन लोंग ने फिर लगातार पांच अंक लेकर दूसरा गेम 21-16 से जीत लिया।
निर्णायक गेम में चेन लोंग ने अच्छी शुरूआत करते हुये 4-1 और 7-4 की बढ़त बनाई। इसके बाद एक एक अंक के लिये मुकाबला संघर्षपूर्ण होता चला गया। दोनों खिलाड़ी 12-12 की बराबरी पर पहुंच गये। प्रणय फिर 14-12 और 17-15 से आगे हुये। चेन लोंग ने 17-17 पर बराबरी की। प्रणय ने 19-17 की बढ़त बनाई और 20-18 के स्कोर पर मैच अंक पर पहुंच गये। लेकिन चीनी खिलाड़ी ने स्कोर 19-20 कर दिया।
सहारनपुर को फिर झुलसाने की कोशिश, निर्माणाधीन धार्मिक स्थल में मूर्ति से छेड़छाड़ के बाद आगजनी
प्रणय ने मौका अपने हाथ से नहीं निकलने दिया और एक अंक लेकर 21-19 पर गेम तथा मैच समाप्त कर दिया। प्रणय ने इस तरह लगातार दूसरे मैच में अपने से ऊंची रैंकिंग के खिलाड़ी को शिकस्त दी और अपने करियर की एक और बड़ी जीत हासिल कर ली। विश्व रैंकिंग में 22वें नंबर के श्रीकांत का 19वीं रैंकिंग के वांग के खिलाफ दो साल बाद जाकर मुकाबला हुआ। श्रीकांत ने 2015 में चीनी ताइपे टूर्नामेंट में वांग को हराया था और यहां भी उन्होंने लगातार गेमों में वांग को शिकस्त दी।
श्रीकांत के जबरदस्त गेम के सामने वांग पूरे मैच में कोई चुनौती पेश नहीं कर सके। श्रीकांत ने पहले गेम में लगातार छह अंक लेकर 6-0 की बढ़त बनाई और अपनी बढ़त को धीरे धीरे आगे बढ़ाते हुये पहला गेम 21-15 पर समाप्त कर दिया।
दूसरे गेम में हालांकि वांग 3-0 और 5-2 से आगे हुये लेकिन श्रीकांत ने लगातार पांच अंक लेकर 7-5 की बढ़त बनाई और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। भारतीय खिलाड़ी 12-11 के स्कोर पर लगातार छह अंक लेकर 18-11 से आगे हो गये। उन्होंने यह गेम 21-14 से समाप्त करते हुये सेमीफाइनल में जगह बना ली।
श्रीकांत का सेमीफाइनल में विश्व के नंबर एक खिलाड़ी और दूसरी सीड कोरिया के सोन वान हो से मुकाबला होगा। श्रीकांत का सोन वान के खिलाफ 2-4 का करियर रिकार्ड है। दोनों खिलाड़यिों के बीच लगभग ढाई साल के अंतराल के बाद जाकर यह पहला मुकाबला होगा।

Share it
Top