पैसा है तो सब कुछ है – सलमान खान

पैसा है तो सब कुछ है – सलमान खान

सलमान को शायद एहसास हो चुका है कि वह प्रौढ़ अवस्था में कदम रख चुके हैं और अब हीरो के रूप में उनकी पारी ज्यादा दूर तक नहीं चल सकेगी। उनके पास ज्यादा वक्त नहीं है, इसलिए जल्द से जल्द सलमान ज्यादा से ज्यादा फिल्में कर लेना चाहते हैं। 

सलमान, इन दिनों अपने प्रोडक्शन हाउस को मजबूत करने में जुटे हैं ताकि एक हीरो के रूप में उनकी पारी का अंत होने के बाद उनका काम काज चलता रहे। सलमान के बैनर एस.के०एफ० ने बजरंगी भाई जान और हीरो बनाई। अब इस बैनर की तीसरे फिल्म टयूबलाइट 23 जून को रिलीज हो रही है।
टयूबलाइट को लेकर इस बार सलमान ज्यादा शोर शराबा नहीं कर रहे हैं क्योंकि वह जानते हैं कि किसी भी हालत में वह बाहुबली:द क्न्क्ल्यूजन के एक चौथाई को भी नहीं छू सकेगी। ट्यूबलाइट हॉलीवुड फिल्म द लिटिल बॉय पर आधारित है। कबीर खान ने पिता पु़त्र की मूल कहानी को दो भाइयों की कहानी में बदल दिया है। सलमान के भाई के किरदार में उनके रियल ब्रदर सोहेल खान नजर आएंगे।
सलमान कैटरीना के साथ टाइगर जिंदा है कर रहे हैं। वे धर्मा प्रोडक्शन के साथ मिलकर एक फिल्म बना रहे हैं। इसके लिए उन्होंने अक्षय कुमार को साइन किया है। इसमें वे कैटरीना को लेना चाहते हैं। किक 2, नो एंट्री में एंट्री, दबंग 3 और अतुल अग्निहोत्री की फिल्मों के लिए सलमान की बातचीत चल रही है। नो एंट्री में एंट्री, 2005 में आई नो एंट्री का सीक्वल है जिसमें सलमान का डबल रोल होगा। 
जब बाहर खाना खाने जाये…!
       टाइगर जिंदा है के बाद सलमान खान अलवीरा के पति अतुल अग्निहोत्री की कोरियन फिल्म का हिंदी रीमेक करेंगे। भारत-पाक विभाजन के बैकड्रॉप पर आधारित इस फिल्म का निर्देशन सुल्तान फेम अली अब्बास जफर कर सकते हैं। 2009 में आई वांटेड सलमान के कैरियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई थी। उसके बाद उन्हें कभी पलट कर नहीं देखना पड़ा। सलमान ने इसके सीक्वल में फिर राधे बनने की तैयारी कर ली है।
सलमान खान, गामा पहलवान पर एक बायोपिक बनाना चाहते थे लेकिन वह अपनी योजना को अमली जामा पहना पाते, उसके पहले ही जॉन अब्राहम ने इस विषय पर फिल्म शुरू कर दी। अब सलमान इस विषय पर एक टीवी शो बनाने जा रहे हैं।
व्यस्तता के चलते सलमान,सोहेल खान की शेर खान अब नहीं कर रहे हैं। अब इसके लिए वरूण धवन या टाइगर श्रॉफ के नामों पर विचार हो रहा है। प्रेम रतन धन पायो के बाद सूरज बडज़ात्या की जो फिल्म, सलमान करने वाले थे, वह भी डिब्बाबंद हो चुकी है। यहां प्रस्तुत हैं सलमान खान के साथ की गई बातचीत के मुख्य अंश: बढ़ती उम्र की चिंता, आपको सताने लगी है, इसलिए आजकल आप जरूरत से ज्यादा काम कर रहे हैं ?
अभी तो मैं अपने स्टारडम का भरपूर लुत्फ उठा रहा हूं। आने वाले कल को लेकर मैं बिलकुल भी चिंतित नहीं हूं। जहां तक ज्यादा काम करने का सवाल है, पिछले कई सालों से यही कुछ होता आ रहा है और आगे भी होता रहेगा। ज्यादा काम करने की खास वजह कुछ नहीं है। बस एक्टर हूं इसलिए काम तो करना ही है। किसी भी प्रोफेशन में काम है तो पैसा है और पैसा है तो सब कुछ है।
जब एक्टिंग नहीं करेंगे, उस वक्त प्रोडयूसर, डायरेक्टर या पिता की तरह स्टोरी राइटर ? क्या बनना चाहेंगे ?
बागी और वीर की स्क्रिप्ट तो मैंने यूं ही लिख ली थी लेकिन डैडी की तरह स्टोरी राइटर बनने का मेरा कोई इरादा नहीं है। वैसे भी इसके लिए विचारशीलता बहुत जरूरी है जो मेरे पास बिलकुल नहीं है। डायरेक्शन का काम भी काफी कठिन होता है। मुझे लगता है कि यह भी मुझसे नहीं हो सकेगा। इसलिए आसान रास्ता चुनते हुए प्रोडक्शन की कमान ही संभालने का इरादा है।
बाहुबली: द कन्क्ल्यूजन के कुछ समय बाद ही आप ‘टयूबलाइटÓ लेकर आ रहे हैं। आपको ऐसा नहीं लगता कि इस तरह आपकी यह फिल्म प्रभावित हो सकती है ? नहीं, हमें ऐसा बिलकुल भी नहीं लगता क्योंकि ‘बाहुबली: द बिगनिंगÓ के कुछ दिनों बाद ही हम बजरंगी भाईजान लेकर आये थे और हमारी फिल्म ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। यदि आपकी फिल्म अच्छी होगी, तब उसे चलने से कोई नहीं रोक सकता।
आप संजय दत्त की बायोपिक में एक कैमियो करने वाले थे, फिर अचानक आपने इन्कार क्यों कर दिया ?
सच तो यह है कि मुझे न तो इसके लिए कोई ऑफर मिला था और न मैं ऐसी कोई फिल्म कर रहा था। पता नहीं इस तरह की बे-सिर पैर की खबरें कहां से आ जाती हैं। पिछले दिनों रजनीकांत ने कहा कि वो आपके साथ कोई फिल्म करने के लिए उत्सुक हैं। सुनकर आपको कैसा महसूस हुआ ?
यह उनका बड़प्पन है लेकिन मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। एक ऐसा शख्स, सारी दुनिया जिसकी दीवानी हो, यदि वह कहे कि वह मेरे साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं, तब भला इससे बड़ी बात मेरे लिए क्या हो सकती है। सच तो यह है कि मैं उसी दिन से ऐसे किसी ऑफर का इंतजार कर रहा हूं।
आपका विवादों का पुराना नाता रहा है। आप कभी अपनी थकान की तुलना रेप की शिकार महिला के साथ करते हैं तो कभी शादी और सैक्स के बारे में ऐसी बात कह देते हैं जिससे अकारण विवाद खड़े हो जाते हैं ?
इस बारे में मेरे डैडी बिलकुल सही कहते हैं। उनका कहना है कि मेरे मन में ऐसा वैसा कुछ भी नहीं होता लेकिन अपने दिल की बात कहने के लिए मैं सही शब्दों के चयन में अक्सर चूक जाता हूं।
हर वक्त एक स्टार की इमेज ओढ़े रहना आपको कितना मुश्किल लगता है ? क्या कभी एक्टर होने पर अफसोस होता है ?
यदि आप अपने काम को पसंद नहीं करते और उसे एंजाय नहीं करते, तब इससे ज्यादा दयनीय स्थिति दूसरी नहीं हो सकती। एक्टर होने की वजह से मैं खुद को दुनिया का सबसे ज्यादा खुशकिस्मत इंसान मानता हूं। यदि आप एक्टर हैं तो आपको एक बाहरी इमेज बनाकर तो रखनी ही पड़ेगी। मुझे लगता है कि एक स्टार के लिए बाहरी इमेज को ओढ़कर चलना बेहद जरूरी है।
आपके काम को हर कोई पसंद करता है लेकिन इसके बावजूद अवार्ड के मामले में आज भी आपके हाथ खाली हैं ?
आपके काम को लोग पसंद करते हैं, आपके लिए यही सबसे बड़ी बात है। अपने आप में एक सुपीरियरिटी का एहसास खुद ब खुद होने लगता है। ऐसे में यदि अवार्ड देने वाले आपको अवार्ड नहीं देते, तब उनके अवार्ड खुद ब खुद सवालों के घेरे में आ जाते हैं।
आप कॉमेडी, एक्शन और इमोशनल सभी तरह के किरदार कर चुके हैं लेकिन व्यक्तिगत तौर पर आपको किस तरह के किरदार ज्यादा पसंद हैं ?
मुझे कॉमेडी फिल्में करना ज्यादा अच्छा लगता है। कॉमेडी दिखने को बेशक काफी ईज़ी लगे लेकिन यह सबसे ज्यादा टफ है। 2011 में आई रेडी एक ऐसी ही फिल्म थी जिसे करने के बाद मन को काफी तसल्ली हुई थी। पिछले पांच साल से मैं ऐसी ही किसी स्क्रिप्ट की तलाश में हूं । काफी समय से मैंने पूरी तरह रोमांटिक फिल्म भी नहीं की है। मैं फिर से रोमांस करना चाहता हूं। मन में ख्वाहिश है कि मसाला और एक्शन फिल्मों के बाद कुछ रोमांटिक फिल्मों में काम करूं।सुभाष शिरढोनकर 

Share it
Top