पांच साल बाद अलप्पो लौटा फुटबाल

पांच साल बाद अलप्पो लौटा फुटबाल

अलप्पो। बम धमाकों और लगातार मासूमों की मौत का नजरा देख रहे सीरिया में पांच साल बाद फुटबाल की वापसी ने जीवन के पटरी पर लौटने के संकेत दिये और स्थानीय फुटबाल क्लब अल इत्तिहाद तथा होरिया ने संक्षिप्त समय के लिये एक मैच खेला। बम विस्फोट से नष्ट हो चुके रियात अल शबाब स्टेडियम में बड़ी संख्या में स्थानीय लोग कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पहुंचे और इस मैच का लुत्फ उठाया जिसे छह बार की विजेता टीम अल इत्तिहाद ने 2-1 से जीता। लगभग बर्बाद हो चुके सीरिया के प्रभावित शहर अलप्पो में आम जीवन ही अब मुश्किल हो चुका है तो ऐसे में खेल पूरी तरह से समाप्त हो चुके हैं। वहीं इस बीच यह मैच कराया गया जहां सीरियाई सरकार और रूस समर्थित हवाई हमलों के बाद विरोधियों को खदेड़ा जा रहा है और स्थिति कुछ सामान्य होती दिखाई दे रही है। गत माह सेना ने अलप्पो का पड़ोसी पूर्वी क्षेत्र विरोधियों के कब्जे से छुड़वाया था। होरिया के खिलाड़ी फिरास अल अहमद ने इस मौके पर कहा, इन समस्यों के बीच भी अपने घर वापिस आकर बहुत अच्छा लग रहा है। हम अपने समर्थकों के बीच घरेलू मैदान पर खेल रहे हैं।
हिन्दू युवा वाहिनी के बागी तेवर कम नहीं हुए, पांच और प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की..!
हमें आने जाने में बहुत समस्या होती है। लेकिन अलप्पो में खेलने का हमारा अधिकार है। हम यहां आकर अच्छा खेलते हैं। हम एक बार फिर अपने शहर का नाम रोशन करना चाहते हैं। सीरिया फुटबाल लीग को भी देश में मौजूदा स्थिति की वजह से बहुत समस्या हुई है और इन पांच सालों में दमिशक तथा लताकिया में ही खेल संभव हो सका है। ऐतिहासिक इमारतों से घिरे अलप्पो को सीरिया का आर्थिक केंद्र माना जाता था। पिछले पांच वर्ष से चल रहे गृह युद्ध के चलते देश में तीन लाख लोगों की जानें गयी हैं और लोगों के पलायन के चलते दुनिया का सबसे बड़ा शरणार्थी संकट खड़ा हो गया है।

Share it
Top