पांचाल के जांबाज खेल से श्रृद्धानंद कालेज जीता

पांचाल के जांबाज खेल से श्रृद्धानंद कालेज जीता

नई दिल्ली। विजयन पांचाल के शानदार हरफऩमौला खेल (76 रन और 22 रन पर 2 विकेट) और योगेश कुमार के 42 गेंदों पर तीन छक्कों और छह चौकों की मदद से 58 रनों की बदौलत गत विजेता स्वामी श्रृद्धानंद कालेज ने शिवाजी कालेज मैदान पर खेले जा रहे 27वें अखिल भारतीय स्पेरी ओम नाथ सूद स्मृति क्रिकेट टूर्नामेंट में रण स्टार क्रिकेट क्लब को 37 रन से हराकर क्वॉर्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। पहले बल्लेबाजी का न्योता पाकर श्रृद्धानंद कालेज ने 37.1 ओवर में 215 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी रण स्टार क्रिकेट क्लब की टीम दो ओवर शेष रहते 178 रन पर ही सिमट गई। मुख्य अतिथि हरीश मखीजा ने बी.डी.एम. मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार पांचाल को प्रदान किया। पांचाल ने 69 गेंदों पर 76 रन की पारी में सात चौके और तीन छक्के लगाये। पांचाल और योगेश ने नौंवे विकेट के लिए सर्वाधिक 108 रन की साझेदारी निभाकर एक नया रिकॉर्ड कायम किया। इससे पूर्व 23 अप्रैल 1998 को रौशनारा क्लब मैदान पर अंबेसेडर स्काइ सैफ के मनविन्दर सिंह (92 रन) ने प्रमोद पाल (32 नाबाद) के साथ मिलकर नौंवे विकेट के लिए 95 रन की साझेदारी निभाई थी। टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का निर्णय रण स्टार क्लब को खूब रास आया। परमेश खोखर (3/39) और कृष्ण पाल (2/38) की घातक गेंदबाजी के चलते श्रृद्धानंद कालेज ने केवल 95 रन पर ही अपने आठ विकेट खो दिए। इसके बाद पांचाल और योगेश ने नौंवे विकेट के लिए न केवल 82 गेंदों पर 108 रन की साझेदारी निभाई बल्कि अपनी टीम को 200 रनों के पार पहुंचा मैच में कुछ हद तक वापसी भी की। जीत के लिए 216 रनों का आसान लक्ष्य पाने उतरी रण स्टार की टीम ने बल्ले से कमाल दिखाने वाले पांचाल (2/22) और बाएं हाथ के फिरकी गेंदबाजी रमेश प्रसाद (28/3) की घातक गेंदबाजी के चलते 10.3 ओवर में 37 रनों पर ही चार विकेट खोकर अपने लक्ष्य को मुश्किल बना लिया।
अंबेडकर जयंती के मौके पर योगी आदित्यनाथ ने कहा, महापुरुषों के नाम पर बंद हो सरकारी छुट्टियां
मोहित अहलावत (64 रन) ने विकास दीक्षित (48 रन) के साथ पांचवे विकेट के लिए 82 रनों की साझेदारी निभाकर स्थिति को संभालने का प्रयास किया। इसके बाद मनीष सहरावत (2/42) ने लगातार दो गेंदो पर दो विकेट लेकर अपनी टीम को जीत की ओर प्रशस्त कर दिया।

Share it
Top