पहली बार 30 लाख के पार पहुँच सकती है यात्री वाहनों की बिक्री

पहली बार 30 लाख के पार पहुँच सकती है यात्री वाहनों की बिक्री

नई दिल्ली। देश में यात्री वाहनों की बिक्री चालू वित्त वर्ष में पहली बार 30 लाख के पार पहुँचनी लगभग तय है।
चालू वित्त वर्ष के पहले 11 महीने में अप्रैल 2016 से फरवरी 2017 तक घरेलू बाजार में कुल 27,64,206 वाहन बिके हैं। वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने यूनीवार्ता को बताया कि 30 लाख वाहनों की बिक्री की आँकड़ा आसानी से हासिल हो जाना चाहिये।
उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2014-15 में देश में कुल 26,01,236 तथा 2015-16 में 27,89,678 यात्री वाहन बिके थे। यात्री वाहनों में यात्री कारें, उपयोगी वाहन (एसयूवी समेत) तथा वैन शामिल हैं। श्री माथुर ने कहा कि नोटबंदी के बाद यात्री वाहन उद्योग पटरी पर वापस आ चुका है तथा मार्च में बिक्री बढऩे की उम्मीद है। ऐसी स्थिति में 30 लाख का आँकड़ा हासिल करना कोई मुश्किल काम नहीं है।
सपा में शुरू हुआ हार के कारणों पर मंथन..मुलायम ने कांग्रेस के साथ गठबंधन को हार का जिम्मेदार बताया
उन्होंने बताया कि वाहन निर्माता कंपनियों के’लुकिंग अहेड कान्क्लेव’में चालू वित्त वर्ष में यात्री वाहनों की बिक्री में 8.6 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया गया था और उद्योग इसे हासिल करता हुआ दिख रहा है। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष में अब तक यात्री वाहनों की बिक्री 9.7 प्रतिशत बढ़ चुकी है जो नोटबंदी के बाद आयी गिरावट को देखते हुये काफी अच्छा प्रदर्शन है। वित्त वर्ष के पहले 11 महीने में सबसे ज्यादा 13,15,946 यात्री वाहन मारुति सुजुकी ने बेचे हैं। उसकी बिकी 10.91 प्रतिशत बढ़ी है। इसके बाद क्रमश: हुंडई मोटर इंडिया और महिंद्रा एंड महिंद्रा का स्थान रहा। हुंडई की बिक्री 4.93 प्रतिशत बढ़कर 4,64,948 इकाई तथा महिंद्रा की बिक्री 0.65 प्रतिशत बढ़कर 2,10,776 इकाई पर पहुँच गयी।

Share it
Top