पसीना बहाकर जीते नडाल ,सेरेना भी चौथे दौर में

पसीना बहाकर जीते नडाल ,सेरेना भी चौथे दौर में

मेलबोर्न। पूर्व नंबर एक स्पेन के राफेल नडाल ने युवा जर्मन खिलाड़ी एलेक्सांद्र जेवेरेव के खिलाफ पांच सेटों के मैराथन संघर्ष में जीत दर्ज कर शनिवार को आस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के चौथे दौर में 10वीं बार प्रवेश कर लिया, वहीं महिलाओं में सेरेना विलियम्स ने आसान जीत दर्ज की। वर्ष 2009 के चैंपियन नडाल ने युवा जर्मन खिलाड़ी जेवेरेव को 4-6 6-3 6-7 6-3 6-2 से हराकर अंतिम 16 में जगह बनाई। स्पेनिश खिलाड़ी को रॉड लेवर एरेना में 19 साल के जेवेरेव के खिलाफ जीतने के लिये अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना पड़ा जिसके बाद जाकर उन्हें चार घंटे से भी अधिक समय में जीत हासिल हुई। हालांकि दूसरी वरीय सेरेना ने हमवतन निकोल गिब्स को लगातार सेटों में 6-1 6-3 से आसानी से हराकर चौथे दौर में प्रवेश कर लिया। दिन के सबसे रोमांचक मैच में 14 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन नडाल के साथ कड़ा संघर्ष दिखाने वाले जेवेरेव को इस मैच के बाद अब भावी ग्रैंड स्लेम चैंपियन माना जा रहा है। 30 वर्षीय अनुभवी खिलाड़ी ने कहा हर कोई जानता है कि जेवेरेव भावी चैंपियन हैं और उन्होंने मैच में यह दिखा दिया। आस्ट्रेलियन ओपन में 12 बार खेलने उतरे नडाल ने 10वीं बार चौथे राउंड में प्रवेश किया है। मैच में दोनों खिलाडियों के बीच हर सेट बेहतरीन रहा जिसमें तीसरे सेट में कोई भी खिलाड़ी एक भी ब्रेक अंक हासिल नहीं कर सका और फैसला टाईब्रेक में हुआ जिसे नडाल हार गये।
चौथा सेट फिर स्पेनिश खिलाड़ी ने जीत मैच को निर्णायक सेट में पहुंचाया जिसमें स्पेनिश खिलाड़ी ने शुरूआती ब्रेक अंक जीता। लंबी रैलियों के बाद नडाल आखिर सेट और मैच जीतने में कामयाब रहे। टूर्नामेंट में बतौर नौवीं सीड खेल रहे नडाल के सामने अब अगले दौर में गाएल मोंफिल्स की चुनौती रहेगी।
बिहार ने रचा इतिहास…दुनिया को दिया नशामुक्त समाज का संदेश

इससे पहले विश्व की दूसरे नंबर की खिलाड़ी सेरेना ने अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिये पूरी ²ढ़ता के साथ कदम बढ़ाते हुये हमवतन गिब्स को लगातार सेटों में हराया। महिला एकल के पिछले राउंड के मुकाबलों में अच्छी फार्म वाली विपक्षी खिलाड़यिों को पीटकर आगें बढ़ी सेरेना ने अपने से 90 रैंङ्क्षकग नीचे की खिलाड़ी गिब्स को काफी आसानी से मात दे दी। रॉड लेवर एरेना में हुये मैच में सेरेना के खिलाफ गिब्स ने कुछ अच्छा खेल दिखाने का प्रयास किया और एक बार उनकी सर्विस ब्रेक की। लेकिन अमेरिकी खिलाड़ी ने एकतरफा अंदाज में एक घंटे से कुछ अधिक समय तक चले मैच में अपने नाम कर लिया। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी सेरेना के सामने अब 16वीं सीड और महिला युगल में भारतीय खिलाड़ी सानिया मिर्जा की जोड़ीदार चेक गणराज्य की बारबोरा स्ट्राइकोवा की चुनौती होगी। 22 बार की ग्रैंड स्लेम विजेता सेरेना आस्ट्रेलियन ओपन में इस बार अपने 23वें स्लेम के लिये खेल रही हैं जिसके साथ ही वह इस युगल में मार्गेट कोर्ट के रिकार्ड की बराबरी कर इतिहास में अपनी अलग जगह बना लेंगी। 35 वर्षीय सेरेना ने मैच के बाद अपने खेल पर खुशी जताते हुये कहा, मुझे लगता है मैंने अच्छा प्रदर्शन किया। मैं वैसा ही खेल पा रही हूं जैसा कि मैं अभ्यास में खेलती हूं। उम्मीद है इस लय को बरकरार रख सकूंगी।Þ सेरेना यदि जीतती हैं तो यह उनका रिकार्ड सातवां आस्ट्रेलियन ओपन खिताब होगा। गत वर्ष सितंबर में यूएस ओपन के बाद अमेरिकी खिलाड़ी ने फिर सत्र के किसी अन्य टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया था।
ग्रैंड स्लेम से पहले केवल दो अभ्यास टूर्नामेंटों में ही खेलीं सेरेना के सामने 23 वर्षीय गिब्स पहले सेट में सर्विस गंवा बैठीं और डबल फाल्ट भी किया। इसके बाद दूसरे सेट में 1-5 से पिछड़ गयीं और सेरेना ने 26 मिनट में 6-1 से सेट जीत लिया। वर्ष 2012 रोलां गैरों में वर्जिनी राजोनो के हाथों मिली हार के बाद से सेरेना कभी भी शीर्ष 50 रैंकिंग के बाहर की खिलाड़ी से कभी भी नहीं हारी हैं। इसके अलावा दूसरी सीड खिलाड़ी ने अपनी हमवतन अमेरिकी खिलाड़यिों के खिलाफ 2013 के बाद से 29 मैचों में केवल दो ही हारे हैं। हालांकि महिला एकल के तीसरे दौर में 17वीं सीड डेनमार्क की कैरोलिन वोज्नियाकी को नौवीं सीड ब्रिटेन की जोहाना कोंटा ने 6-3 6-1 से हराकर बाहर कर दिया। अगले दौर में सेरेना की विपक्षी बारबोरा ने 21वीं सीड फ्रांस की कैरोलिन गार्सिया को 6-2 7-5 से हराया। एक उलटफेर में 30वीं सीड रूस की एकातेरिना माकारोवा ने छठी सीड स्लोवाकिया की डोमिनिका सिबुलकोवा को 6-2 6-7 6-3 से हराकर बाहर किया। वहीं गैर वरीय अमेरिका की जैनिफिर ब्राडी ने 14वीं सीड रूसी खिलाड़ी एलीना वेस्नीना को 7-6 6-2 से हराया।
चुनावी दंगल : राहुल गांधी को करारा झटका..’जो नहीं हुआ बाप का, वह क्या होगा आपका’ के नारे लगाए
पुरूष एकल के तीसरे दौर में अन्य अहम मुकाबलों में तीसरी सीड कनाडा के मिलोस राओनिक और छठी सीड मोंफिल्स ने अपने अपने मुकाबले जीतकर चौथे दौर में जगह बनाई। राओनिक ने 25वीं सीड जाइल्स सिमोन को 6-2 7-6 3-6 6-3 से हराया। तेज बुखार के बावजूद इस मैच में खेले राओनिक ने सिमोन के खिलाफ टूर्नामेंट का अपना पहला सेट गंवाया। कनाडाई खिलाड़ी ने चौथे सेट के छठे गेम में ब्रेक हासिल किया और बेहतरीन सर्व के साथ अगले दौर में जगह बनाई। राओनिक गत वर्ष यहां सेमीफाइनल तक पहुंचे थे और वह इस दौर तक पहुंचने वाले पहले कनाडाई खिलाड़ी बने। राओनिक के सामने अब 13वीं सीड स्पेन के राबर्ट बोटिस्ता अगुत की चुनौती रहेगी जिन्होंने 21वीं सीड डेविड फेरर को 7-5 6-7 7-6 से हराया। नडाल के साथ मैच सुनिश्चित करने वाले छठी सीड मोफिल्स ने तीसरे दौर में 32वीं सीड जर्मनी के फिलिप कोलश्रेबर को 6-3 7-6 6-4 से लगातार सेटों में हराया। आठवीं सीड आस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम ने फ्रांस के बेनोएट पेयर को 6-1 4-6 6-4 6-4 से और 11वीं सीड बेल्जियम के डेविड गोफिन ने 20वीं वरीय क्रोएशिया के इवो कार्लोविच को 6-3 6-2 6-4 से हराकर चौथे दौर में जगह बनाई। टूर्नामेंट का सबसे बड़ा उलटफेर कर सर्बियाई खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को बाहर करने वाले उज्बेकिस्तान के डेनिस इस्तोमिन ने स्पेन के पाब्लो कारीनो को पांच सेटों में 6-4 4-6 6-4 4-6 6-2 से हराकर अपना अभियान जारी रखा।
 

Share it
Top