पत्नी से माफी मांगने में शर्म कैसी ? पत्नी की नजरों में आपकी इज्जत ही बढ़ेगी…!

पत्नी से माफी मांगने में शर्म कैसी ? पत्नी की नजरों में आपकी इज्जत ही बढ़ेगी…!

 ‘सारी दीपा। मुझे माफ कर देना। गलती मेरी थी। मुझे तुमसे ऐसा नहीं कहना चाहिए था।’
रमेश ने किसी बात पर अपनी पत्नी दीपा को झिड़क दिया था। बाद में पता चला कि गलती दीपा की नहीं, उसी की है। अपनी गलती का मालूम पडऩे पर रमेश ने पत्नी से माफी मांगी थी।
हमारे यहां पुरूष को श्रेष्ठ और औरत को हीन समझा जाता है। पति चाहे जो करने, पत्नी से चाहे जो कहने को स्वतंत्र है। उस तरह की सोच या व्यवहार करने से दांपत्य में मधुरता या प्रेम आ ही नहीं सकता।
सुखी दांपत्य के लिए जरूरी है पति और पत्नी दोनों में ऊँच नीच या छोटा बड़ा वाली भावना न रहकर बराबर की भावना रहे।
कैलेंडर की कहानी

प्राय: यह देखने में आता है कि गलती चाहे किसी की भी हो, पति बेवजह अपनी पत्नी को डांट देते हैं। अगर पति को पता चल जाये कि गलती पत्नी की नहीं, उसकी अपनी है, तो भी पति अपनी गलती पर क्षमा नहीं मांगता। पत्नी से क्षमा मांगने में शरम समझता है।
कब न करें दवा का सेवन…दवा शरीर में जहर फैला सकती है !

यह गलत है। अपनी पत्नी से अपनी किसी गलती पर माफी मांगने में शर्म कैसी। रमेश अगर अपनी गलती के लिए अपनी पत्नी से माफी मांग सकता है तो आप क्यों नहीं।
पत्नी से माफी मांगने पर आप छोटे नहीं होंगे बल्कि पत्नी की नजरों में आपकी इज्जत ही बढ़ेगी।
– किशनलाल शर्मा

Share it
Share it
Share it
Top