पढ़ाई के लिए जरूरी है उचित माहौल

पढ़ाई के लिए जरूरी है उचित माहौल

पढ़ाई करने के लिए शांत और स्थिर दिमाग के साथ ही जरूरी है उचित माहौल ताकि किसी भी प्रकार का व्यवधान न हो और बिना किसी रुकावट के बेहतर पढ़ाई हो। आइए जानें कि छात्रों को पढ़ाई, विशेष रूप से परीक्षा की तैयारी के लिए कैसा माहौल चाहिए।
– यदि स्टूडेंट का कमरा अलग है तो इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि वहां न तो सड़क की चिल्ल-पों, शोर-शराबा और यातायात से कोई बाधा आए और न ही खिड़की या टेरेस से बाहर का नजारा दिखे।
– कमरे की बनावट ऐसी हो कि उसमें पर्याप्त मात्रा में शुद्ध हवा और रोशनी आए।
– इस बात का ख्याल रखें कि घर-परिवार के दैनिक कामकाज व गतिविधियों से छात्र को कोई व्यवधान उत्पन्न न हो और न ही बार बार छात्र के कमरे में जाकर कोई उसे डिस्टर्ब करें।
बाल कथा: मुफ्त का काम

– एक स्टूडेंट को हमेशा कुर्सी पर बैठकर ही अपनी पढ़ाई करनी चाहिए। बैठने की जगह पूर्णत: व्यवस्थित होनी चाहिए। यहां-वहां बिखरी किताबें, कापियां व नोट्स आदि स्टूडेंट को हर जरूरी चीज लेने के लिए उठने पर मजबूर करते हैं। इससे उसका ध्यान भंग होता है।
– अगर एक ही कमरे का उपयोग दो स्टूडेंट्स कर रहे हों, तब उनकी टेबलें अलग और एक-दूसरे से दूर होनी चाहिए ताकि वे आपस में एक-दूसरे को डिस्टर्ब न कर सकें।
झीलों की नगरी-उदयपुर

– घर के अन्य सदस्य लंबे समय तक रेडियो-टीवी आदि का उपयोग न करें। इससे छात्र का मन भी ललचा सकता है।
– छात्र की पढ़ाई के बीच में उसकी खैर पूछते रहें, उसकी मेहनत को सराहें, उसमें आत्मविश्वास का संचार करें। आपका यह व्यवहार की हिम्मत बढ़ाएगा।
– उमेश कुमार साहू

Share it
Top