न बनें सेक्स में मतलबी…अपनाएं मनोवैज्ञानिक अप्रोच

न बनें सेक्स में मतलबी…अपनाएं मनोवैज्ञानिक अप्रोच

sex सना जब ऑफिस आई तो उसका मूड काफी उखड़ा सा लग रहा था जैसे-तैसे वो लंच ब्रेक तक आधे अधूरे मन से काम करती रही। सिम्मी ने जब उससे टिफिन शेयर करते हुए मूड ऑफ होने का कारण पूछा वे अपना गुबार निकालते हुए बोली, ‘ये सारे मर्द एक जैसे ही होते हैं। सेल्फिश ब्रूट्स, सिर्फ अपना सुख देखते हैं। प्यार से पुकारने के बजाय हुक्म चलाते हैं हमारे साहब। बीवी न हुई जरखरीद गुलाम हो गई। उनकी इच्छा ही सर्वोपरि है। मेरे मूड या तकलीफ से उन्हें कोई सरोकार नहीं।
ठीक कह रही हो। रीतेश का भी यही रवैय्या है। उन्हें मेरी संतुष्टि से सरोकार नहीं। अपना स्वार्थ पूरा होते ही दूसरी तरफ करवट लेकर मिनटों में खर्राटे भरने लगेंगे। मेरी ननद रिया मुझसे अपने पति की हर बात शेयर कर लेती है। पिछली बार आई तो बता रही थी, एक बार उसने जब पहल करने की कोशिश की तो पति राजेश ने उसे इतना शर्मिंदा किया कि वो आगे से कभी अपनी इच्छा व्यक्त न करे। उन्होंने उसे यहां तक कह डाला कि ऐसी हरकतें वेश्याएं करती हैं। सिर्फ औरतों को ही सैक्स में पति के सेल्फिश होने की शिकायत नहीं होती। पुरूषों को भी कई बार पत्नियों से यही शिकायत होती है जैसे कि मोहित को अपनी पत्नी निशिता से है। वो जब अपने दोस्तों को चटखारे लेकर रात के किस्से सुनाते हुए देखता है, उसके दिल में चुभन होती है काश, मेरी पत्नी इतनी खुदगर्ज न होती। जब अपना मूड होगा तो कोऑपरेट करेगी नहीं तो झिड़क देगी, कहेगी कि तुम्हें तो सेक्स के सिवा कुछ और सूझता नहीं। कभी कह देगी, ‘मूड नहीं है। आखिर पति-पत्नी क्यों एक दूसरे पर सेक्स के मामले में स्वार्थी, मतलबी होने का इल्जाम लगाते हैं।
सेक्स मशीनी क्रिया नहीं – सेक्स स्पेशलिस्ट डॉक्टर नरूला के अनुसार सैक्स मानवीय एवं संवदेनशील भावनात्मक तरंगें हैं जो अलग-अलग समय पर पति-पत्नी के मन में उठ सकती हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि साथी की इच्छा का बिना किसी ठोस कारण के मान न रखा जाए। यह प्रेम प्रदर्शन का जरिया है। प्रेम प्रदर्शन में कोताही कैसी, आनाकानी कैसी।
जिन कपल्स की सैक्स लाइफ संतृप्त व संतुष्ट होती है, वो उनके चेहरे पर दिखती है। एक ग्लो होता है उनके चेहरे पर। वे कम ही तनावग्रस्त मिलेंगे।
OMG ! विश्व प्रसिद्ध मुनरो की पोशाक 33 करोड़ में हुई नीलाम

लव गेम है सैक्स – यहां पर गेम में हार जीत नहीं होती बल्कि समान पार्टिसिपेशन और एंजायमेंट होता है। कामकला भी ‘आर्ट ऑफ लिविंग’ का एक भाग है जिसमें एक्सपर्ट पति पत्नी एक दूसरे को संतुष्ट रखते हैं। उनके बीच प्रेम की गंगा बहती है। पारिवारिक जीवन में भी वे एक स्टडी के अनुसार ज्यादा सफल देखे गये हैं। जीवन की जद्दोजहद में यहां कदम कदम पर कोई न कोई समस्या मुंह उठाये रहती है। भावनात्मक रूप से जुड़े पति पत्नी उनका हल बेहतर तरीके से सुलझाने में सक्षम रहते हैं क्योंकि उनका मोराल हाई रहता है। उन्हें एक दूसरे पर भरोसा रहता है। सैक्स विवाह का आधार स्तंभ है। यौनसुख विवाह को सफल बनाने में अहम है। विवाह शारीरिक भूख मिटाने का एक लाइसेंस्ड जरिया है। संतानोत्पत्ति के लिये सदियों से चली आ रही एक सामाजिक कानूनी रूप से स्वीकृत संस्था है।
ऊर्जा का स्रोत – मैडिकली भी यह माना गया है कि सैक्स तन-मन को स्वस्थ रखता है। इसके अभाव में व्यक्ति को शरीर और मन की बीमारियां घेर सकती हैं क्योंकि कुदरत ने उनकी संरचना इसी प्रकार की है।
संतुष्टिपूर्ण सैक्स ऊष्मा और ताजग़ी देकर दिन भर की थकान और मानसिक तनाव से राहत दिलाता है। जीवन में उत्साह पैदा कर एक आकर्षण बनाये रखता है। पति पत्नी को उन्मुक्त होकर सैक्स एंजॉय करना चाहिए, परस्पर एक दूसरे के सुख को भी तरजीह देते हुए।
अपनाएं मनोवैज्ञानिक अप्रोच – किसी भी कार्य में सफलता तभी मिलती है जब आपको उसके बारे में अच्छी जानकारी हो, उसे हर एंगल से समझते हों। यही बात यहां पर भी लागू होती है। सेक्स में सफलता के लिए उसके बारे में मनोवैज्ञानिक सोच की अहमियत को अनदेखा नहीं किया जा सकता। कुछ ही समय में एक दूसरे के मन को समझा जा सकता है। असमंजस की स्थिति में अच्छा हो खुलकर बात करें। स्पर्श की महत्ता को समझें। प्रिय को कैसे स्पर्श लुभाता या उत्तेजित करता है, इसकी जानकारी रखें। उन्हें वही सुख दें जो वो एंजॉय करते हों।
तब एक दूसरे से उन्हें यह शिकायत नहीं रहेगी कि वे मतलबी हैं या सिर्फ अपना ही सुख देखने वाले या वाली है। जहां म्युचअल इन्ट्रस्ट हो, वहां तालमेल आसान रहता है। कोई किसी को क्यों एक्सप्लॉयट करे। इकतरफा मजा अधूरा रहता है। संपूर्ण सुख के लिये दोनों की भागीदारी बराबर की होनी चाहिए।
– उषा जैन ‘शीरीं’आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयलunnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.

Share it
Share it
Share it
Top