नोटबंदी ने किया कॉरपोरेट आयकर घटाने, जीएसटी लागू करने का मंच तैयार

नोटबंदी ने किया कॉरपोरेट आयकर घटाने, जीएसटी लागू करने का मंच तैयार

नयी दिल्ली ।  भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने आज कहा कि नोटबंदी ने कॉरपोरेट आयकर घटाने तथा वस्तु एवं सेवा कर(जीएसटी) के प्रभावी रुप से लागू करने के लिए मंच तैयार किया है।
बजट पेशी से पहले वित्त मंत्रालय को भेजी गयी सिफारिशों में सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा,“ नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था का एक वृहद हिस्सा आयकर के दायरे में आया जिससे कॉरपोरेट क्षेत्र के आयकर दर को कम करने में ज्यादा सहूलियत हो गयी है।
अमर सिंह लंदन से दिल्ली के लिए रवाना, सोमवार को मुलायम से मिलेंगेबजट 2017-18 के लिए हमारी सिफारिश है कि सभी सरचार्ज और उपकर सहित कॉरपोरेट क्षेत्र के लिए आयकर दर घटाकर 18 प्रतिशत की जाये। उद्योग परिसंघ ने कहा कि कर दर घटाने से इसे मानने वालाें की संख्या में वृद्धि होगी और इसी अनुभव के आधार पर सीआईआई का मानना है कि कर की दर 18 प्रतिशत करने और सभी कर छूट हटाने से सरकारी खजाने पर नाकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ेगा। बनर्जी ने कहा,“ कर दर 18 प्रतिशरत करने से भारत सिंगापुर और ब्रिटेन की तरह अंतरराष्ट्रीय निवेश के लिए आकर्षक बन जायेगा।

Share it
Top