नोटबंदी को टाटा का समर्थन : रतन टाटा

नोटबंदी को टाटा का समर्थन : रतन टाटा

ratantataनई दिल्ली। टाटा समूह के अध्यक्ष तथा सम्मानित उद्योगपति रतन टाटा ने कालाधन और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के प्रयास के तहत एक हजार रुपये तथा पाँच सौ रुपये के पुराने नोटों को अमान्य करने के सरकार के फैसले का समर्थन किया है।
श्री टाटा ने एक ट्वीट में कहा, कि मोदी सरकार द्वारा पुराने नोटों का विमुद्रीकरण एक साहसिक कदम है। इससे कालाधन तथा भ्रष्टाचार समाप्त होगा। हमें इसका समर्थन करना चाहिये।
पुराने नोटों पर प्रतिबंध के बाद से कई लोग इसका खुलकर समर्थन कर रहे हैं तो कुछ लोग इसकी कड़ी आलोचना भी कर रहे हैं। इससे तत्काल देश में नकदी तथा अर्थव्यवस्था में तरलता की कमी हो गयी है। हालाँकि, सरकार का दावा है कि यह दिक्कत कुछ दिनों की है तथा जल्द ही सब कुछ सामान्य हो जायेगा। एक उद्योगपति के रूप में सम्मानित तथा अपनी साफ-सुथरी छवि के लिए जाने-जाने वाले श्री टाटा का बयान एक तरह से समूह के विचार को भी प्रदर्शित करता है और इसलिए यह काफी महत्त्वपूर्ण है।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयलunnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.]. 

Share it
Top