नियम से ही करें भोजन ..रात को हल्का भोजन करना स्वास्थ्य के लिए है उत्तम

नियम से ही करें भोजन ..रात को हल्का भोजन करना स्वास्थ्य के लिए है उत्तम

 – प्रात: का नाश्ता भारी, दिन का खाना सही और रात को हल्का भोजन करना चाहिए जो स्वास्थ्य के लिए उत्तम माना जाता है।
– यदि दिन का भोजन रात्रि तक पचा हुआ महसूस न हो तो ऐसे में रात्रि में केवल खिचड़ी या फल और दूध लें।
– भोजन करने से पहले अच्छी तरह हाथ, मुंह धोकर भोजन करें।
– जब भूख जोर से लगी हो, उस समय खाली जल पीना भी नुक्सान पहुंचाता है। ऐसे में यदि खाना उपलब्ध होने में देर लगे तो एक बिस्कुट के साथ एक गिलास पानी पी लें।
– प्रयास करें कि भोजन नियमित समय पर ही खायें।
– दोपहर के भोजन में दही लेना उचित है। रात्रि के भोजन में परहेज करना चाहिए।
चौंकिए नहीं…मोटापा कम करता है चुम्बन..!

– बासी खाना और जला हुआ खाना स्वास्थ्य को लाभ के स्थान पर हानि पहुंचाते हैं। ताजा भोजन स्वास्थ्य के लिए अति उत्तम माना जाता है।
– भोजन शांत मन से बनायें, खिलायें और खायें। भोजनोपरान्त क्रोध करना स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव डालता है।
– अपने पेट को ‘डस्टबिन’ समझ कर उसमें सब कुछ मत ठूंसें। भूख से कम भोजन खाना चाहिए।
– रात्रि का भोजन सोने से दो घंटे पूर्व कम से कम करें। दिल के मरीजों को भोजन के बाद टहलना नहीं चाहिए।
– भोजन के बीच में थोड़ा पानी पिएं। भोजनोपरान्त पानी मत पिएं। कम से कम एक घंटे बाद पानी का सेवन करें।
– भोजन चबा चबा कर खाना चाहिए। शीघ्र भोजन करना शरीर में अपच पैदा करता है।– जहां भोजन खा रहे हैं, ध्यान रखें, वह स्थान स्वच्छ होना चाहिए।
– प्रयास करें कि टी. वी. देखते समय भोजन न खायें क्योंकि भोजन की अधिक मात्रा शरीर में चली जाती है।
– भोजन के तुरंत पश्चात व्यायाम न करें।
– नीतू गुप्ता

Share it
Top