नजरअंदाज न करें कलाइयों को..लगातार वजनदार चीज़ें न उठायें..!

नजरअंदाज न करें कलाइयों को..लगातार वजनदार चीज़ें न उठायें..!

  ‘गोरी-गोरी हैं कलाइयां’ इस गाने को कई बार सुना होगा और कलाइयों की तरफ ध्यान भी गया होगा। तब लगता होगा खूबसूरत कलाइयां भी आपकी सुन्दरता में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। सुन्दर गोल कलाइयों पर सजी मेंहदी और अधिक खूबसूरत लगती है। सुडौल कलाइयों पर घड़ी और चूडिय़ां इतनी फबती हैं कि मन चाहता है उन कलाइयों को चूम लिया जाये। यदि कलाई सुन्दर और सुडौल नहीं होगी तो उस पर पहनने जाने वाले आभूषण सुंदर नहीं लगेंगे।हाथों और बाहों की खूबसूरती के लिए कलाइयों का सुन्दर होना भी जरूरी है। वैसे तो सभी अंग प्रकृति की देन हैं और उनका उचित ख्याल रखना हमारा धर्म है। हमें अपने अंगों की खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए कुछ विशेष ध्यान तो देना ही चाहिए। कलाई की खूबसूरती तब कम हो जाती है जब उस पर लगातार तंग आभूषण या तंग स्टै्रप वाली घड़ी बंधी रहे।अधिक भारी चीजें उठाने से और अधिक काम करने से भी इनकी खूबसूरती कम होती है। कुछ ध्यान देकर आप अपनी कलाइयों की खूबसूरती को बरकरार रख सकती हैं।- ध्यान रखें आपकी कलाई को कोई बार-बार न मोड़े। – तंग आभूषण या तंग स्टै्रप वाली घड़ी का प्रयोग लगातार न करें।- शरीर में खून की कमी न होने दें। इससे कलाइयां पीली लगती हैं। इसके लिए अपनी खुराक पर विशेष ध्यान दें।- लगातार वजनदार चीज़ें न उठायें, न ही उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान पर रखें।
स्वस्थ शरीर के लक्षण..अगर पैरों का रंग गुलाबी और चमड़ी भी गुलाबी हो तो आप स्वस्थ हैं..!
– नहाने से पूर्व कलाइयों पर तेल की मालिश करें।- कलाई को चिकनी व चमकदार बनाए रखने के लिए रात को सोने से पहले बादाम का तेल या नींबू शहद का मिश्रण मलें।- कलाइयों की कोमलता बनाए रखने के लिए पका पपीता लगाएं और सूखने पर धो लें।- सप्ताह में एक बार कलाइयों पर पैक लगाएं। पैक में केला, शहद, मुलतानी मिट्टी का मिश्रण तैयार कर बाजू, कलाई और हाथों पर लगाएं। कुछ सप्ताह के लगातार प्रयोग से कलाइयां खूबसूरत दिखने लगेंगी।- कलाइयों की खूबसूरती हेतु कुछ व्यायाम करती रहें जिससे रक्तसंचार में तेजी बनी रहे। उभरी नसों को कम करने के लिए हाथों की उंगलियों को जितना फैला सकती हैं, फैलायें। मुटठी बंद करें, खोलें।
अति लाभकारी है खजूर..खजूर खाकर दूध पीने से वजन भी बढ़ जाता है.!
मुटठी बंद कर बाजू सीधी रख कर कलाई को क्लाक वाइज़ एंटीक्लाक वाइज़ घुमाएं।कलाइयों को सजा कर रखें:– परिधान से मेल खाती चूडिय़ां पहनें। ध्यान रखें चूडिय़ां अधिक ढीली या तंग न हों।- घड़ी का स्ट्रैप ऐसा हो जो आपकी कलाई की शोभा बढ़ाए।- हाथों और कलाइयों पर मेंहदी लगवाती रहें ताकि सुन्दर दिखाई दें।- सुनीता गाबा

Share it
Top