धन्धे में सब जायज है

धन्धे में सब जायज है

 सोशल चौपाल
वाट्सएप-
वैलेंटाइन डे के पहले दिन गिफ्ट शॉप पर वकील साहब मिल गए ।
वो 40 कार्ड ले रहे थे । सब पर उन्होंने भेजने वाले की जगह लिखा –
‘तुम्हारी जान !! पहचान गए ना ? शाम को मिलो । लव यू । ’
पूछने पर बताया – पिछले वैलेंटाइन डे पर आस पास की कालोनी में ऐसे ही 20 कार्ड भेजे थे।
कुछ ही दिन में तलाक के चार केस मिल गए थे । इस बार 40 कार्ड भेज रहा हूँ।
धन्धे में सब जायज है ।
स्मार्ट वकील!ट्विटर-
मुझे इतना भी मत घुमा ऐ ज़िन्दगी, मैं शहर का शायर हूँ, एमआरएफ का टायर नहीं!

Share it
Top