द्रविड़ ने हितों के टकराव पर मांगा स्पष्टीकरण

द्रविड़ ने हितों के टकराव पर मांगा स्पष्टीकरण

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से हितों के टकराव मुद्दे पर स्पष्टीकरण मांगा है। हाल ही में बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) के सदस्य पद से इस्तीफा देने वाले जाने-माने इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कई दिग्गज क्रिकेट खिलाडिय़ों के खिलाफ हितों के टकराव के मुद्दे को उठाया था जिसमें द्रविड़ का भी जिक्र था। गुहा ने कहा था कि उन्होंने बार-बार इस बात को उठाया है कि कोई भी व्यक्ति एक समय पर दोनों पद नहीं संभाल सकता और न ही दोनों कार्यों की जिम्मेदारी के प्रति न्याय कर सकता है। यह लोढा समिति के प्रावधानों के विपरीत भी है। पूर्व भारतीय कप्तान ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि उन्होंने अपनी स्थिति की स्पष्टता के लिये प्रशासकों की समिति को पत्र भेजा है जिसमें उन्होंने कहा है कि हितों के टकराव संबंधी नियमों पर स्पष्टता के साथ उन्हें बतायें। उन्होंने कहा कि हां मैंने सीओए को पत्र लिखा है जिसमें मैंने हितों के टकराव संबंधी मामले में अपनी स्थिति स्पष्ट करने को कहा। द्रविड़ ने कहा कि बीसीसीआई के हितों के टकराव संबंधी नियमों के अनुरूप मैं निश्चित रूप से हितों के टकराव के अंतर्गत नहीं आता हूं। यदि अनुबंध के बीच में किसी कानून में परवर्तन किया जाता है तो मुझे लगता है इस पर आलोचना करना व्यर्थ है।
मिस्टर भरोसेमंद ने कहा कि मेरा सिर्फ यही कहना है कि न केवल मेरे लिये बल्कि पांच या छह लोग ऐसी ही स्थिति में हैं और हितों के टकराव मुद्दे पर स्पष्टता होना बेहद जरूरी है। यह बेहद ही निराशाजनक है कि इस मुद्दे पर नियमों के स्पष्ट न होने के बावजूद इस पर सार्वजनिक रूप से चर्चा की जाती है। उल्लेखनीय है कि गुहा ने हितों के टकराव के इस मामले में महेंद्र सिंह धोनी, सुनील गावस्कर और राहुल द्रविड़ जैसे खिलाडिय़ों को हर मामले में प्राथमिकता दिए जाने की आलोचना भी की थी। उल्लेखनीय है कि द्रविड़ भारतीय जूनियर टीमों के कोच के अलावा आईपीएल टीम दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटर भी हैं। प्रशासकों की समिति भारतीय क्रिकेट में हितों के टकराव के मुद्दे पर 12 जून को चर्चा करेगी। इस चर्चा में द्रविड़ को लेकर भी चर्चा की जायेगी। इस मुद्दे को गुहा के अपने पद से इस्तीफा देने के बाद ज्यादा हवा मिली। गुहा ने अपने आरोपों में सीधे तौर पर द्रविड़ का नाम नहीं लिया लेकिन यह जरूर कहा कि एक व्यक्ति दो पदों पर कैसे रह सकता है। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि सीओए इस मुद्दे पर 12 जून को बैठक में चर्चा करेगी। हालांकि उन्होंने गुहा के पत्र पर किसी तरह की प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया और कहा कि इस मुद्दे को समग्र रूप से सुलझाने की जरूरत है। आपको इस पर सही दिशा और प्रक्रिया से काम करने की जरूरत है।

Share it
Top