दो करोड़ रुपये’ऊंट के मुंह में जीरा: शास्त्री

दो करोड़ रुपये’ऊंट के मुंह में जीरा: शास्त्री

मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और निदेशक रवि शास्त्री ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा खिलाडियों के वार्षिक अनुबंध की राशि बढ़ाने को अपर्याप्त मानते हुये इसे ऊंट के मुंह में जीरे के समान बताया है।
बीसीसीआई ने दो सप्ताह पहले ही ए ग्रेड में शामिल खिलाडियों को दो करोड़, बी ग्रेड वालों को एक करोड़ और सी ग्रेड में शामिल खिलाडियों को 50 लाख रुपये देने का फैसला लिया था। लेकिन शास्त्री अब इन बढ़े हुये पैसों से खुश नहीं है और उनका मानना है कि ये पैसे खिलाडियों के लिये बहुत कम है। शास्त्री ने संवाददाताओं से कहा, दो करोड़ रूपये कुछ भी नहीं हैं। ये ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। एक टेस्ट खिलाड़ी के लिये ग्रेड का अनुबंध और अधिक होना चाहिये। चेतेश्वर पुजारा के साथ साथ अन्य शीर्ष खिलाडियों का अनुबंध भी ज्यादा होना चाहिये।
त्रिपुरा में बारिश और चक्रवाती तूफान से 2 मरे, 16 घायल
आपका ए ग्रेड अनुबंध ज्यादा होना चाहिये। मुझे पता है कि खिलाडियों के वेतन में दोगुना इजाफा हुआ है लेकिन इसमें और ज्यादा हो सकता है। पूर्व कप्तान ने कहा, ए ग्रेड में शामिल पुजारा जैसे खिलाडियों को और अधिक राशि मिलनी चाहिये क्योंकि वह आईपीएल में नहीं खेलते हैं।

Share it
Top