दोहरी हत्या के मामले में 22 लोगों को उम्रकैद के अलावा दूसरे पक्ष के पांच लोगों को भी सजा सुनाई गयी

दोहरी हत्या के मामले में 22 लोगों को उम्रकैद के अलावा दूसरे पक्ष के पांच लोगों को भी सजा सुनाई गयी

अमरोहा ।  उत्तर प्रदेश में अमरोहा जिले की एक अदालत ने सात साल पुराने दोहरी हत्या के मामले में आज 22 आरोपियों को आजीवन कारावास के साथ 21-21 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई।
इसके अलावा अदालत ने दूसरे पक्ष के पांच लोगों को हत्या के प्रयास में पांच-पांच साल के कारावास के साथ 10- 10 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई। सजा सुनाये जाने के बाद सभी लोगों को कड़ी सुरक्षा के बीच सजा भुगतने के लिए मुरादाबाद जिला जेल भेज दिया गया है। अभियोजन पक्ष के अनुसार 24 सितम्बर 2011 को अमरोहा के छेबड़ा मोहल्ले में जमीन विवाद को सुलझाने के लिए जुल्फकार और यासीन कबाड़ी पक्षों ने पंचायत बुलाई थी। पंचायत में सुलह न होने पर दोनों पक्ष आपस में भिड़ गये थे और दोनों पक्षों ने गोली चलायीं थीं। इस घटना में जुल्फकार पक्ष के यूनुस (18)और मुरसलीन(40) की मौके पर मृत्यु हो गयी थी जबकि दूसरे पक्ष के कई लोग घायल हो गये थे।
सीएम योगी ने डीएम शफक्कत कमाल और एसएसपी लव कुमार को हटाया, नागेंद्र प्रसाद सिंह डीएम और सुभाष चंद्र दुबे एसएसपी सहारनपुर बनाए गए
यूनुस और मुरसलीन की हत्या के मामले में जुल्फकार ने यासीन कबाड़ी समेत 24 लोगों सलीम, तहसीन ,तसलीम शमी, शोकीन, मुकीन, यासीन, महराब, सिराज, इसरार, निसार, असलम ,अहसान, गुड्डू, मिसवा, मुस्तकीम, फसल, सरदार, साकिर, शाहिद, इरफान इस्लाम और दो नाबालिगों शाइनवाज और सज्जाद को नामजद किया गया था। यासीन कबाड़ी की ओर से जुल्फकार, आफताब समेत पांच लोगों के खिलाफ हत्या प्रयास का मामला दर्ज कराया था। इस मामले में विशेष अदालत के न्यायाधीश बी.डी. भारती ने सभी आरोपी 22 लोगों को दोहरी हत्या के मामले में दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा के साथ 21-21 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई जबकि दो नाबालिगों की पत्रवाली अलग कर दी गई है। हत्या के प्रयास मामले में जुल्फकार, आफताब समेत पांचों नामजद लोगों को भी दोषी करार देते हुए पांच-पांच साल की कारावास के साथ दस-दस हजार रुपये को जुर्माने की सजा सुनाई।

Share it
Share it
Share it
Top