देश के लिये फिर खेलना चाहता हूं : उथप्पा

देश के लिये फिर खेलना चाहता हूं : उथप्पा

पुणे। कोलकाता नाइटराइडर्स के लिये आईपीएल-10 में कमाल की पारियां खेल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा ने कहा है कि उन्हें अपने खेल पर पूरा भरोसा है और वह भारत का फिर से प्रतिनिधित्व करना चाहते हैं।
पुणे के एमसीए स्टेडियम में पुणे के खिलाफ सात विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले उथप्पा ने 47 गेंदों में ताबड़तोड़ 87 रन बनाने के बाद कहा मेरे लिये जरूरी है कि मैं निरंतर अच्छा खेल सकूं। मेरा सपना अब भारत के लिये टेस्ट क्रिकेट खेलना है। मैं सपने देख रहा हूं लेकिन इसके आगे और कुछ नहीं सोच सकता हूं। हमें वर्तमान में जीना होता है और अपनी ओर से बेहतर करना चाहिये।
उन्होंने कहा मेरा मानना है कि किसी की मेहनत कभी भी नजरअंदाज नहीं की जा सकती है। मुझे पूरा यकीन है कि मेरी बारी भी जरूर आयेगी। उथप्पा भारतीय टीम से पिछले काफी समय से बाहर हैं। कर्नाटक के लिये खेलने वाले उथप्पा ने अपना आखिरी वनडे जुलाई 2015 में हरारे में जिम्बाब्वे के खिलाफ और आखिरी ट्वंटी 20 भी हरारे में ही जिम्बाब्वे के खिलाफ उसी समय खेला था। उन्होंने 46 वनडे और 13 ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे। लेकिन उन्हें टेस्ट खेलने का कोई मौका नहीं मिल पाया है।
सीएम योगी ने डीएम शफक्कत कमाल और एसएसपी लव कुमार को हटाया, नागेंद्र प्रसाद सिंह डीएम और सुभाष चंद्र दुबे एसएसपी सहारनपुर बनाए गए
इस आईपीएल में उथप्पा ने अब तक तीन अर्धशतक 68, 72 और 87 रन बनाये हैं। उन्होंने पुणे के खिलाफ अपनी मैच विजयी पारी में अपने पुराने चिर परिचित अंदाज में छक्के मारे। उथप्पा ने मैच को लेकर कहा, पुणे ने बहुत अच्छी बल्लेबाजी कर 182 रन बनाये और हमें पता था कि रन रेट ऊंचा ही रखना होगा। हम हर ओवर में नौ रन बनाने के लिये खेल रहे थे और 15वें ओवर तक हमारी स्थिति अच्छी थी।
कोलकाता नाइटराइडर्स ने 10वें संस्करण में उथप्पा को मध्य क्रम पर बल्लेबाजी के लिये रखा है जबकि ओपङ्क्षनग में गौतम गंभीर खेल रहे हैं तथा कैरेबियाई स्पिनर सुनील नारायण को भी ओपङ्क्षनग का तीन बार मौका दिया जा चुका है। उथप्पा ने कहा, हां मुझे मध्य क्रम पर खेलने में कुछ असहज हुआ क्योंकि इससे मैं पावरप्ले में नहीं खेल पा रहा हूं। लेकिन मुझे अपनी बल्लेबाजी पर पूरा भरोसा है कि मैं कभी भी टीम के लिये रन बना सकता हूं।

Share it
Top