दुकानदारों व ग्राहकों के लिए प्राइसमैप ऐप लांच

दुकानदारों व ग्राहकों के लिए प्राइसमैप ऐप लांच

e-shoping-logoनई दिल्ली। इंटरनेट के जरिये खरीददारी करने वालों को ऑनलाइन और स्थानीय खुदरा बाजार की प्रतिस्पर्धी कीमतें जानने में मदद करने और किफायती कीमत पर पास की दुकानों से चीजें खरीदने की सुविधा प्रदान करने वाला नया ऐप प्राइसमैप लांच किया गया है।
राजधानी दिल्ली एवं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के दुकानदारों और ऑनलाइन खरीददारी करने वालों को अभी इससे मदद मिलेगी। ऑनलाइन कारोबार शुरू होने के आने के बाद स्थानीय और खुदरा व्यापार पर काफी असर पड़ा है। ऐसे स्थानीय खुदरा छोटे और बड़े व्यवसायिक प्रतिष्ठानों की संख्या 1.6 करोड़ के करीब है और ये देश के 60 अरब डॉलर के खुदरा व्यापार में बड़े हिस्सेदार हैं।
27 साल यूपी बेहाल ,अब बनाएंगे प्रदेश को बेमिसाल
 साथ ही ये सबसे अधिक रोजगार भी प्रदान करते हैं। स्थानीय खुदरा व्यापारियों ने अपने हितों की रक्षा के लिए कई बार आवाज भी उठाई है लेकिन अब तक इस दिशा में ज्यादा कुछ किया नहीं गया है। ऐसे में प्राइसमैप को खुदरा व्यापारियों और खरीदारों के बीच शॉपिग के गूगल के तौर पर पेश किया गया है। स्थानीय खुदरा बाजार के लिए प्रॉडक्ट और प्राइस डिस्कवरी ऐप होने के नाते प्राइसमैप लोगों को ऑनलाइन रहकर अपने मनमाफिक कीमत पर पास की दुकानो से चीजें खरीदने की सुविधा और आजादी प्रदान करता है।
सड़क पर लड़की को घेरकर कपड़े उतारने की कोशिश…विरोध करने पर भाई-बहन को पीटा
   उपभोक्ताओं को ऑनलाइन सर्च करके पसंद किए गए उत्पाद का लिंक ऐप पर शेयर करना है। इसके बाद प्राइसमैप के जरिये उन्हें पता चल जाएगा कि पास में किन किन दुकानों में वह प्रोडक्ट है और कौन ऑनलाइन से भी सस्ता बेच रहा है। प्राइसमैप के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश काबरा ने कहा कि उन्होंने उपभोक्ताओं को यह यकीन दिलाने की कोशिश की कि उन्हें वस्तुएं सस्ती दरों पर पास की दुकानो से मिल रही हैं। एक शोध में पाया गया है कि 10 वस्तुओं में से आठ ऑनलाइन शॉपिंग की गयी वस्तु की तुलना में करीबी दुकान पर वह वस्तु सस्ती कीमत पर उपलब्ध है पर उपभोक्ताओं को यह पता ही नहीं है।
royal-3-1-1-300x254
 

Share it
Share it
Share it
Top