दिल्ली की हवा का जहरीला हो जाना

दिल्ली की हवा का जहरीला हो जाना

arvind-kejriwal-l-pti
दिल्ली में खतरे के निशान पर पहुंच चुका प्रदूषण केजरीवाल सरकार के लिए मुसीबत बना हुआ है। एक तरफ एनजीटी ने दिल्ली सरकार को इसके लिए फटकार लगाई है तो दूसरी तरफ विपक्षी इसका फायदा उठाते हुए राजनीतिक विरोध करने जंतर-मंतर पर बच्चों और स्थानीय लोगों को एकत्रित करने में लग गए हैं। सवाल यह है कि आखिर राज्य सरकार करे भी तो क्या, क्योंकि जब वह इसके कारण गिनाती है तो उसे सुना नहीं जाता और जब प्रदूषण रोकने सम-विषम जैसा फार्मूला लाती है तो विरोधी इसे नाटक करार देते हुए हर संभव विरोध करते हैं। वहीं दूसरी तरफ जब दिल्ली की हवा जहरीली हो जाती है तो आरोप लगाया जाता है कि केजरीवाल सरकार फेल हो चुकी है और उसके विरोध में लोगों को एकजुट किया जाने लगता है। वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री अनिल माधवदवे खुद कहते हैं कि इसमें राजनीति नहीं होनी चाहिए बल्कि समस्या का समाधान तलाशा जाना चाहिए।
यौन शोषण के आरोपी आप के पूर्व मंत्री संदीप को जमानत
मुख्यमंत्री केजरीवाल भी सभी का आव्हान करते हुए प्रदूषण मुक्त बनाने की दिशा में आगे आने को कहते हैं। अब यह कौन नहीं जानता कि दिल्ली की हवा तो जहरीली हो चुकी है और इससे कोई अकेला नहीं निपट सकता।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे..

Share it
Top