दबाव नहीं है खुलकर खेलेंगे: भुवनेश्वर

दबाव नहीं है खुलकर खेलेंगे: भुवनेश्वर

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा है कि टीम पहले ही सीरीज पर कब्जा कर चुकी है इसलिये उसपर अब कोई दबाव नहीं है और खिलाड़ी इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल वनडे में और भी खुलकर खेल सकेंगे। भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा और आखिरी वनडे रविवार को ईडन गार्डन मैदान पर होगा। भारत ने सीरीज 2-0 से पहले ही कब्जा कर ली है। मैच की पूर्व संध्या पर यहां संवाददाता सम्मेलन में तेज गेंदबाज ने कहा, जब आप पर कोई दबाव नहीं होता है तो टीम और बेहतर ढंग से खेल सकती है। हम सभी खिलाड़ी देश के लिये अच्छा खेलने का प्रयास कर रहे हैं। कटक मैच में कुछ गेंदबाजों के महंगी गेंदबाजी के बीच भुवनेश्वर डैथ ओवरों में अहम साबित हुये थे। उमेश यादव की जगह टीम में शामिल किये गये भुवनेश्वर ने अपने प्रदर्शन को लेकर कहा, राष्ट्रीय टीम में वापसी करने पर खेलना आसान नहीं होता है और स्थिति के अनुसार खुद को ढालना भी कठिन होता है। लेकिन कटक में मैंने दो तीन ओवरों के बाद अपने विश्वास को वापिस हासिल किया और आखिरी ओवरों में मैं अच्छी गेंदबाजी कर सका। भुवनेश्वर ने कहा, वनडे में आजकर 350 रन आम सी बात हो गयी है और इसलिये गेंदबाजों पर कोई बहुत दबाव नहीं होता है।
चुनावी दंगल : राहुल गांधी को करारा झटका..’जो नहीं हुआ बाप का, वह क्या होगा आपका’ के नारे लगाए
हम रविवार को मैच में इंग्लैंड के खिलाफ बिना किसी दबाव के ही खेलेंगे। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में पिछले सत्र में प्रभावित करने वाले भुवनेश्वर ने साथ ही अपने प्रदर्शन का कुछ श्रेय आईपीएल को भी दिया और माना कि लीग में खेलने से उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ा है। भुवनेश्वर ने एक समय हावी दिख रही इंग्लिश टीम के बल्लेबाजों को रोका और मैच के आखिरी ओवरों में कंजूसी से रन दिये जिसकी बदौलत इंग्लिश टीम 366 पर जाकर रूकी और बड़े लक्ष्य के बावजूद उसने 15 रन के करीबी अंतर से मैच गंवाया। तेज गेंदबाज ने कहा, उस ओवर ने मेरे आत्मविश्वास को वापिस लाने में मदद की। मुझे पता था कि मैं इस समय कैसी गेंदबाजी कर सकता हूं। उस वक्त मुझ पर काफी दबाव भी था।
बिहार ने रचा इतिहास…दुनिया को दिया नशामुक्त समाज का संदेश
26 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, अब हमारे ऊपर दबाव नहीं है लेकिन फिर भी हम हर मैच को जीतना चाहते हैं। हम अब खुलकर खेल सकेंगे और ऐसे मैचों में ज्यादा मजा आता है। भारत और इंग्लैंड के बीच पिछले दोनों वनडे बड़े स्कोर वाले मैच रहे जिसमें दोनों ही टीमों के बल्लेबाजों ने कमाल का खेल दिखाया।  भुवी ने कहा, हम उस समय को देख चुके हैं जब 250 का स्कोर रहता था लेकिन अब यह 350 तक पहुंच चुका है। खेल में काफी बदलाव आया है और गेंदबाजों के लिये स्थिति पहले से ज्यादा चुनौतीपूर्ण हुई है। खासतौर पर आखिरी ओवरों में गेंदबाजों के लिये मुश्किलें अधिक रहती हैं। अपनी वापसी को लेकर उन्होंने कहा, लंबे समय के बाद खेलना कभी भी आसान नहीं होता है। लेकिन मैंने बाहर रहते हुये भी अपनी तैयारी जारी रखी थी। जब आप टीम से बाहर होते हैं तो आप ज्यादा ध्यान लगाकर अभ्यास करते हैं। मैंने भी अभ्यास में काफी समय बिताया है।

Share it
Top