‘ट्रंप-नोट’ से सोना तीन साल के उच्चतम स्तर पर

‘ट्रंप-नोट’ से सोना तीन साल के उच्चतम स्तर पर

donald-trump4नई दिल्ली। अमेरिका में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के विजयी होने तथा घरेलू स्तर पर 500 रुपये तथा 1000 रुपये के मौजूदा नोटों को अचानक अवैध घोषित किये जाने से आज दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 900 रुपये उछलकर तीन साल के उच्चतम स्तर 31,750 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुँच गया।
चाँदी भी 1150 रुपये की छलाँग लगाकर पाँच सप्ताह के उच्चतम स्तर 45,000 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुँच गया। अमेरिका में श्री ट्रंप के विजयी होने से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोना 2.15 प्रतिशत यानी 27.35 डॉलर चढ़कर 1300.25 डॉलर प्रति औंस पर पहुँच गया। दिसंबर का अमेरिकी सोना वायदा भी 26.20 डॉलर मजबूत होकर 1300.70 डॉलर प्रति औंस बोला गया। इससे भी घरेलू बाजार में सोने को समर्थन मिला। इसके अलावा, सरकार के 500 रुपये और 1000 रुपये के मौजूदा नोटों को आज से आम लेनदेन के लिए अमान्य घोषित किये जाने के कारण भी बाजार में तेजी देखी गयी। एक सर्राफा कारोबारी ने बताया कि लोग पुराने नोटों के बदले बड़ी मात्रा में 55 हजार रुपये प्रति दस ग्राम भी सोना खरीदने के लिए तैयार हैं, लेकिन कारोबारी बेच नहीं पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले से पीली धातु की कीमत तो बढ़ी है, लेकिन कारोबारी उसे बेच नहीं पा रहे हैं। इस बीच, लंदन में चाँदी हाजिर भी 1.69 फीसदी चमककर 18.63 डॉलर प्रति औंस पर पहुँच गयी। स्थानीय बाजार में सोना स्टैंडर्ड 2.91 प्रतिशत यानी 900 रुपये चढ़कर 20 नवंबर 2013 के बाद के उच्चतम स्तर 31,750 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुँच गया। यह इस साल 24 जून के बाद की सबसे बड़ी तेजी है। सोना बिटुर भी इतना ही उछलकर 31,600 रुपये प्रति दस ग्राम बोला गया। आठ ग्राम वाली गिन्नी में 200 रुपये की बढ़त रही और यह 24,700 रुपये के भाव बिकी। वैश्विक प्रभाव से चाँदी हाजिर भी 2.62 प्रतिशत यानी 1,150 रुपये चमककर इस साल 03 अक्टूबर के बाद के ऊँचे स्तर 45,000 हजार रुपये प्रति किलोग्राम पर रही। चाँदी वायदा 1,230 रुपये मजबूत होकर 44,2800 रुपये पर पहुँच गयी। चाँदी की चमक सिक्कों में भी दिखी। सिक्का लिवाली और बिकवाली एक-एक हजार रुपये चढ़कर क्रमश: 77 हजार तथा 78 हजार रुपये प्रति सैकड़ा बोले गये। कारोबारियों ने बताया कि विदेशी बाजारों में तेजी तथा 500 और 1000 के पुराने नोटों पर प्रतिबंध के दोहरे समर्थन से दोनों कीमती धातुओं में जबरदस्त उछाल आया है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में भी इसमें बड़ी उठापटक रह सकती है। देखना होगा कि नयी परिस्थितियों में बाजार आगे किस प्रकार व्यवहार करता है।

Share it
Top