ट्रंप नीति ने दी सोने-चांदी को बढ़त

ट्रंप नीति ने दी सोने-चांदी को बढ़त

 ट्रंप नीति ने दी सोने-चांदी को बढ़तनयी दिल्ली- अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों को लेकर वैश्विक बाजार में मची उथलपुथल से पीली धातु के प्रति निवेशकों के आकर्षित होने तथा घरेलू स्तर पर जेवराती मांग में सुधार होने से गत सप्ताह दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने की चमक एक बार फिर लौट आयी। वैश्विक स्तर पर निवेशकों की लिवाली के दम पर सोना 170 रुपये की साप्ताहिक बढ़त के साथ 29,550 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। औद्योगिक मांग के बल पर चांदी में भी 400 रुपये प्रति किलोग्राम की साप्ताहिक तेजी रही और यह 42,200 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गयी। सोने के भाव में इससे पिछले सप्ताह इस साल की पहली साप्ताहिक गिरावट रही थी लेकिन जेवराती मांग में हुए सुधार ने गत सप्ताह इसे गिरावट से उबार लिया। गत सप्ताह स्थानीय स्तर पर छह दिन कारोबार हुआ, जिसमें पीली धातु में तीन दिन तेजी, दो दिन गिरावट तथा एक दिन स्थिरता रही। सोमवार को बाजार खुलने पर पीली धातु में तेजी रही थी जबकि चांदी लुढ़क गयी थी। मंगलवार को दोनों कीमती धातुओं के भाव चढ़ गये। बुधवार को बजट पेश हुआ जिससे शेयर बाजार में जबरदस्त उछाल आया। हालांकि, उस दिन भी वैश्विक मांग के असर से घरेलू बाजार में दोनों के भाव तेजी में रहे। गुरुवार को सर्राफा बाजार पर बजट का प्रभाव हावी रहा। विदेशी बाजारों में सोने की कीमतों में रहे जबरदस्त उछाल के बावजूद घरेलू बाजार में शेयर बाजार पर पड़े बजट के सकारात्मक प्रभाव तथा डॉलर की तुलना में रुपये में आयी जबरदस्त तेजी से पीली धातु ने लगातार चार कारोबारी दिवस की अपनी चमक खो दी। हालांकि ,सिक्का निर्माताआें का उठाव बढ़ने से चांदी की चमक तेज हो गयी। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोना गुरुवार को 11 सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था। शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुनाफा वसूली से आयी गिरावट और घरेलू मांग की सुस्ती से दोनों कीमती धातुओं में गिरावट आयी। शनिवार को अंतरराष्ट्रीय बाजार बंद रहे और सर्राफा कारोबारियों की मांग भी सामान्य रही, जिससे सोने के भाव 29,500 रुपये प्रति दस ग्राम पर स्थिर रहे जबकि चांदी 130 रुपये के उछाल के साथ 42,200 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई। विदेशी बाजारों में शुक्रवार को अमेरिका में अर्थव्यवस्था की उम्मीद से कमजाेर आँकड़े आने से दोनों कीमती धातुओं में तेजी आ गयी जिससे सप्ताहांत पर घरेलू बाजार में भी दोनों बढ़त लेकर बंद हुए। शनिवार को सोना 230 रुपये की तेजी के साथ 29,380 रुपये प्रति दस ग्राम पर और चाँदी भी 850 रुपये चमककर 41,800 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई। लंदन तथा न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार, सप्ताह के दौरान सोना हाजिर 29.30 डॉलर की भारी साप्ताहिक बढ़त के साथ 1,120.15 डॉलर प्रति औंस बोला गया। अप्रैल का अमेरिकी सोना वायदा भी 30.60 डॉलर की साप्ताहिक तेजी के साथ 1,221.60 डॉलर प्रति औंस पर रहा। बाजार विश्लेषकों ने बताया कि दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर में अायी गिरावट, ब्याज दर स्थिर रखने के अमेरिकी फेडरल रिजर्व के फैसले और शरणार्थियों तथा एच1बी वीजा पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की विवादास्पद नीतियों से निवेशक सशंकित होकर सोने में निवेश करना अधिक सुरक्षित मान रहे हैं, और इसी कारण इसकी मांग में इतनी तेजी देखी जा रही है। हालांकि, इस दौरान स्वर्ण के सबसे बड़े आयातक देश चीन में नववर्ष मनाया जा रहा था, जिससे इसकी मांग काफी घट गयी थी और दूसरे सबसे बड़े आयातक देश भारत में बजट से निवेशकों की धारणा सकारात्मक हुई और उन्होंने शेयर बाजार में निवेश करना ज्यादा मुनासिब समझा। दुनिया के दो सबसे बड़े स्वर्ण आयातक देशों की कम मांग के बावजूद  ट्रंप की नीतियों ने कीमती धातुओं के भाव को चढा दिया। अंतरराष्ट्रीय बाजार में चाँदी भी 0.38 डॉलर चढ़कर सप्ताहांत पर 17.48 डॉलर प्रति औंस बोली गयी।

Share it
Top