ज्योतिष की नजर से….ये तो होना ही था…बढ़ेगी महंगाई …होगी आलोचना… पर मोदी होंगे मजबूत

ज्योतिष की नजर से….ये तो होना ही था…बढ़ेगी महंगाई …होगी आलोचना… पर मोदी होंगे मजबूत

500-2000-new-note-620x400ज्योतिष के अनुसार भारतीय मुद्रा में आज ये परिवर्तन का योग किस वजह  से बना यह भी एक विचार का विषय है, जिसकी झलक मार्तण्ड पचांग के पृष्ट 49 पर दी गई है।उपरोक्त कुंडली में स्वतंत्र भारत की ग्रह स्थिति का विचार प्रकट किया गया है, जिसके अनुसार कुंडली  में लग्नेश  गुरू ,दशम भाव में बैठ कर द्वितीय स्थान पर नीच दृष्टिगत है। अत: मुद्रा परिवर्तन  की योजना पहले ही तैयार कर ली गई थी। ऐसा होना ही था और बुद्ध,शुक्र,राहू, शनि की दृष्टि है, जो भारत के व्यापार, उद्योग और मुद्रा का स्वरूप बदलना चाह रहा है। तृतीय केतु जहां इस योजना से नाम को भी बढा रहा है, वहीँ यह शासन व शासक को चर्चित व आलोचना का पात्र भी बना रहा है ।वर्तमान में मंगल भारत के धनस्थान पर है, जहां शनि की तृतीय दृष्टि है, जो कि घोषणा का आगाज  व अंतिम निर्णय सुनाती है, अभी 7 तारीख में शुक्र का बदलना, बुध का शनि के साथ आना, ग्रह अनुसार मुद्रा परिवर्तन कराने में सहायक है। ग्रह योग ऐसे है कि शासक की मंशा चाहे कितनी अच्छी हो ,उन्हें विपक्ष की आलोचना झेलनी ही पडेगी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का गुरू, लाभ स्थान में है, इसलिये विपक्ष की आलोचना उन्हें और मजबूत करेगी, लेकिन व्यापार पर इसका अच्छा प्रभाव नहीं पडेगा, जिससे फिलहाल महंगाई भी बढने के आसार है, इससे 27 जनवरी को  शनि के धनु राशि में आने के बाद ही कुछ राहत दिखाई देगी ।
-पं. बृजबिहारी अत्री
9412842153आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयल unnamedबुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइट
www.royalbulletin.in
को भी लाइक करे..कृपया एप और साईट के बारे में info @royalbulletin.com पर अपने बहुमूल्य सुझाव भी दें…

Share it
Top