जून में सुस्त पड़ा यात्री वाहन उद्योग का पहिया

जून में सुस्त पड़ा यात्री वाहन उद्योग का पहिया

नयी दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद कारों तथा अन्य यात्री वाहनों की कीमतों में नरमी की उम्मीद में जून महीने में घरेलू बाजार में इनकी बिक्री सुस्त रही। विभिन्न वाहन कंपनियों द्वारा आज जारी आंकड़ों के अनुसार, देश की सबसे बड़ी यात्री वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड की बिक्री जहाँ एक प्रतिशत की मामूली दर से बढ़ी है वहीं, हुंडई की बिक्री 5.41 प्रतिशत और महिंद्र की 5.27 प्रतिशत घटी है, हालांकि महिंद्रा के वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 11.81 प्रतिशत बढ़ी है। मारुति घरेलू बिक्री जून में 93,057 इकाई रही जो पिछले साल जून की 92,133 इकाई से एक प्रतिशत ज्यादा है जबकि इस साल मई की 1,30,248 इकाई के मुकाबले 28.55 प्रतिशत कम है।
जहानाबाद में कैशवैन से 22 लाख रुपये की लूट
कंपनी ने बताया कि पिछले साल जून की तुलना में छोटी कारों ऑल्टो और वैगन-आर की बिक्री 7.9 प्रतिशत घटकर 25,524 इकाई रह गयी। हालाँकि, कॉम्पैक्ट कारों स्विफ्ट, रिज, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर की बिक्री 1.3 प्रतिशत बढ़कर 40,496 पर और मिड साइज कार सियाज की 41.1 प्रतिशत बढ़कर 3,950 पर पहुँच गयी। इस प्रकार यात्री कारों की उसकी बिक्री 3.6 फीसदी घटकर 69,970 इकाई रह गयी।

Share it
Top