जीडीपी में निजी आयकर बढ़ाने की चुनौती: अधिया

जीडीपी में निजी आयकर बढ़ाने की चुनौती: अधिया

नई दिल्ली। राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने आज कहा कि सरकार के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में निजी आयकर की हिस्सेदारी चुनौतीपूर्ण है। श्री अधिया ने यहां उद्योग संगठन फिक्की की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को संबोधित करते हुये कहा कि अभी जीडीपी में निजी आयकर की हिस्सेदारी बहुत कम है। यह अभी मात्र दो फीसदी है और इसमें तेजी से बढोतरी करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि देश में निजी आयकर प्रोफाइल का उपभोग से मिलान नहीं हो रहा है और इस पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है। कार्पोरेट आयकर के वैश्विक प्रतिस्पर्धी नहीं होने का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि सरकार के पास सीमित संसाधन है। कार्पोरेट आयकर में कमी कुल कर संग्रह पर निर्भर करता है। उन्होंने जीएसटी के एक जुलाई से लागू होने की उम्मीद जताते हुये कहा कि यह अच्छे तरीके से आगे बढ रहा है और केन्द्र तथा राज्य इसमें सहयोग कर रहे हैं।

Share it
Top