जंग के पास सुनहरा अवसर!

जंग के पास सुनहरा अवसर!


दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने नजीब जंग के उपराज्यपाल पद से इस्तीफा देने पर कहा कि दिल्ली सरकार की फाइलों की जांच के लिए गठित शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट सार्वजनिक न हो, इसलिए नजीब जंग को इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया गया है। केंद्र सरकार को इस बारे में स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। इसके कुछ समय बाद ही खबर आई कि जंग के इस्तीफे को मंजूर नहीं किया गया अतः अब वो तब तक पद पर बने रहेंगे जब तक कि नए एलजी नहीं आ जाते। ऐसे में जानकार कह रहे हैं कि यदि माकन की बात में जरा भी सच्चाई है तो फिर जंग तो देर नहीं करेंगे शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने में, आखिर उन्हें सुनहरा मौका जो मिल गया है। यदि नहीं तो फिर माकन को अपनी गलती का एहसास होना चाहिए और खुद तय करना चाहिए कि उन्होंने क्योंकर ऐसा आरोप लगाया।

Share it
Top