चोर तो चोर होता है उसमें पद और सम्मान कैसा

चोर तो चोर होता है उसमें पद और सम्मान कैसा


देश में नोटबंदी के बाद कालेधन पर होने वाले खुलासों से हड़कंप मचा हुआ है। ऐसे में हैरान करने वाले कुछ मामले भी सामने आ रहे हैं। दरअसल कालेधन को सफेद बनाने वाले रसूखदारों में अब एक पद्म भूषण से सम्मानित डॉक्टर का नाम भी जुड़ गया है। पद्म भूषण से सम्मानित मुंबई के नामी डॉक्टर सुरेश आडवाणी पर 10 करोड़ रुपये के प्रतिबंधित नोटों की हेराफेरी का आरोप लगा है। वैसे सूरत के भजिये वाले अरबपति किशोर से लेकर दिल्ली के ग्रेटर कैलाश स्थित टीएंडटी लॉ फर्म के मालिक रोहित टंडन, कोलकाता के बड़े कारोबारी पारसमल लोढ़ा से लेकर कई सफेदपोश शख्सियतें बेनकाब हो चुकी हैं, लेकिन यह मामला कुछ अलग ही है। इसलिए कहा जा रहा है कि पद, नाम और सम्मान चोरी की आदत को खत्म करने में सफल होती नहीं दिखती हैं। इसलिए सभी पर एक जैसी कार्रवाई ही होनी चाहिए।

Share it
Share it
Share it
Top