चोट के बाद वापसी आसान नहीं होती: सायना

चोट के बाद वापसी आसान नहीं होती: सायना

नई दिल्ली। घुटने की सर्जरी के बाद अपनी पूरी फिटनेस में लौटने की कोशिश कर रही पूर्व नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने कहा है कि चोट के बाद वापसी कतई आसान नहीं होती है। सायना ने सोमवार को यहां इंडियन ओपन की घोषणा पर कहा, मुझे पता नहीं था कि सर्जरी के बाद वापसी इतनी मुश्किल होगी। मेरी रियो ओलंपिक के बाद घुटने की सर्जरी हुई और अब मैं अपना तीसरा टूर्नामेंट खेलने जा रही हूं। सर्जरी से पहले मुझे नहीं लगता था कि इतनी मुश्किलें सामने आयेंगी। लेकिन उसके बाद जाकर महसूस हुआ कि वापसी कितनी मुश्किल होती है। विश्व की नौंवें नंबर की खिलाड़ी सायना ने कहा, शारीरिक और मानसिक रूप से आपको मजबूत रहने की जरूरत होती है क्योंकि दिल और दिमाग में कहीं न कहीं लगा रहता है कि घुटने की चोट कहीं वापिस न आ जाए। मैं पूरी कोशिश कर रही हूं कि अपनी पूरी फिटनेस में लौट आऊं। लेकिन इसमें समय लगेगा। मैं मैच दर मैच आगे बढूंगी और देखूंगी कि रिकवरी में कितना समय लगेगा।
6 अप्रैल तक सम्पत्ति का हिसाब नहीं देने वाले अधिकारियों पर एक्शन लेगी योगी सरकार..!
आप अचानक ही बहुत ज्यादा बोझ अपने घुटने पर नहीं डाल सकते हैं। इंडिया ओपन के लिये अपनी संभावनाओं पर वर्ष 2015 की चैंपियन सायना ने कहा, दिल्ली मेरे लिये काफी भाग्यशाली रही है जहां मैंने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण और 2015 में इंडियन ओपन का खिताब जीता था। चोट से वापसी करने के बाद मैं अपने घरेलू इंडियन ओपन में उम्मीद करूंगी कि मुझे दर्शकों का पूरा समर्थन मिले और मैं फिर वैसा ही प्रदर्शन कर पाऊं जो मैंने 2015 में किया था। यह पूछने पर कि उनपर अब ज्यादा आकर्षण नहीं दिया जाता इससे क्या उनपर दबाव कम हुआ है सायना ने कहा, एक तरह से यह अच्छी बात है। यदि आप पर अधिक ध्यान नहीं दिया जाता तो उम्मीदें कम रहती हैं और दबाव भी कम होता है। इससे मुझे अपना बेहतर प्रदर्शन करने में मदद मिलेगी। मैं उम्मीद करती हूं कि इंडिया ओपन में मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाऊंगी।

Share it
Top