चोट के खतरे के बावजूद स्टार्क होबार्ट टेस्ट में खेलेंगे

चोट के खतरे के बावजूद स्टार्क होबार्ट टेस्ट में खेलेंगे

PERTH, AUSTRALIA - NOVEMBER 05: Mitchell Starc of Australia reacts while bowling during day three of the First Test match between Australia and South Africa at WACA on November 5, 2016 in Perth, Australia. (Photo by Ryan Pierse - CA/Cricket Australia/Getty Images)होबार्ट। आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क चोट के गंभीर खतरे के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 12 नवंबर से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट में खेलेंगे। आस्ट्रेलिया मेहमान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला टेस्ट गंवा चुका है। ऐसे में राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने चोट के खतरे के बावजूद उन्हें दूसरे टेस्ट के लिये चुना है। टीम के फिजियो डेविड बेकले ने कहा,कि स्टार्क ने चोट से वापसी करते हुये पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया था और दूसरे टेस्ट के लिये भी वह तैयार हैं। टीम का मेडिकल स्टाफ लगातार उनके साथ काम कर रहा है और उन्हें पूरी तरह फिट होने के लिये मदद कर रहा है। फिजियो ने कहा कि स्टार्क ने घुटने की चोट से बहुत कम समय उबरते हुये पहले टेस्ट में वापसी की थी और बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उन्होंने कड़ी मेहनत कर अपने को साबित किया कि वह खेल के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने न केवल बेहतरीन वापसी की बल्कि एक मैच में लगभग 50 ओवर की लंबी गेंदबाजी भी की। कोच डैरेन लेहमैन ने कहा,कि तेज गेंदबाजों के चोटिल होने की संभावना हमेशा बनी रहती है और स्टार्क भी इससे जुदा नहीं हैं।
पीएम मोदी की पहल के बाद बसपा दफ्तर में आया भूचाल…ब्रीफकेस व बैग से भरी 100 गाड़ियां पहुंची
 स्टार्क ने पहले टेस्ट में शानदार गेंदबाजी की थी और एकबार फिर से होबार्ट में होने वाले दूसरे टेस्ट में भी गेंदबाजी की अगुवाई करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा,कि हमने यह फैसला तेज गेंदबाज पीटर सिडल के चोटिल होकर दूसरे टेस्ट से बाहर हो जाने के बाद लिया। हम सीरीज में वापसी के लिये प्रतिबद्ध हैं और हमें पूरी उम्मीद हैं कि स्टार्क की अगुवाई में गेंदबाज बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.].

Share it
Top