चीनी का उत्पादन 15 प्रतिशत घटा

चीनी का उत्पादन 15 प्रतिशत घटा

नई दिल्ली। चालू चीनी सीजन में देश में अब तक 146.72 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है जो पिछले सीजन की इसी अवधि के 173.34 लाख टन चीनी की तुलना में 26.62 लाख टन (15.36 प्रतिशत) कम है।
चीनी मिलों के शीर्ष संगठन इंडियन शुगर मिल एसोसियेशन (इस्मा) द्वारा जारी आँकडों के अनुसार, चालू चीनी सीजन में अक्टूबर से 15 फरवरी तक कुल 146.72 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है। पिछले चीनी सीजन की इसी अवधि में यह आँकड़ा 173.34 लाख टन रहा था।
उसने बताया कि चालू सीजन में 483 मिलों में उत्पादन शुरू हुआ था, लेकिन अब तक 191 मिलें उत्पादन बंद कर चुकी हैं। देश के चीनी उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले महाराष्ट्र में करीब 80 प्रतिशत और कर्नाटक में 95 प्रतिशत मिलें बंद हो चुकी हैं। चीनी उत्पादन करने वाले सबसे बड़े राज्य उत्तरप्रदेश में उत्पादन बढ़ा है। पिछले वर्ष 15 फरवरी तक 45.55 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था जो चालू सीजन की इसी अवधि में बढ़कर 54 लाख टन पर पहुँच चुका है। राज्य में 116 मिलों में उत्पादन शुरू हुआ था। अब तक छह मिलें उत्पादन बंद कर चुकी है। संगठन के अनुसार, इस अवधि में महाराष्ट्र में चीनी उत्पादन में भारी गिरावट देखी गयी है। पिछले वर्ष 15 फरवरी तक राज्य में 62.70 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था जो चालू सीजन के इसी अवधि में घटकर 39.73 लाख टन रह गया है। राज्य में करीब 80 फीसदी चीनी मिलें भी बंद हो चुकी हैं। इस वर्ष 153 मिलों में उत्पादन शुरू हुआ था, लेकिन अब मात्र 31 मिलें ही चालू हैं जबकि पिछले सीजन में इस समय तक 144 मिलें चल रही थी।
तीसरे चरण में 63 फीसदी से अधिक मतदान, शिवपाल यादव समेत 826 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बन्द..!
कर्नाटक में मात्र तीन चीनी मिलें अभी चालू हैं। इस वर्ष 61 मिलों में उत्पादन शुरू हुआ था, लेकिन अब तक 58 मिलें गन्ना पेराई बंद कर चुकी हैं। राज्य में 20.25 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है जो पिछले वर्ष इस अवधि में 32.31 लाख टन रहा था। दक्षिण कर्नाटक में जुलाई महीने में पेराई शुरू होती है और उस दौरान उत्पादन बढऩे की संभावना है।
आँध्र प्रदेश और तेलंगाना में 15 फरवरी तक चार लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में 5.50 लाख टन उत्पादन हुआ था। दोनों राज्यों को मिलाकर इस वर्ष 26 मिलों में उत्पादन शुरू हुआ था और अभी सिफ 19 मिलें चालू हैं। तमिलनाडु में 37 मिलों में इस अवधि में 5.10 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है जबकि पिछले वर्ष 15 फरवरी तक 38 मिलों ने चार लाख टन चीनी का उत्पादन किया था।
लाइन में खड़ा करने वालों को हटाने के लिये लग रही है मतदाताओं की कतार : अखिलेश
गुजरात में जारी सीजन में 15 फरवरी तक 19 मिलों में सात लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है। पिछले वर्ष इस अवधि में 8.08 लाख टन उत्पादन हुआ था। बिहार की 11 मिलों में 3.75 लाख टन उत्पादन हुआ है जबकि पिछले सीजन की इसी अवधि में यह आँकड़ा 3.87 लाख टन रहा था। पंजाब में 3.80 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है जो पिछले वर्ष 3.55 लाख टन रहा था। इसी तरह से मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ में 3.30 लाख टन उत्पादन हुआ जो पिछले सीजन की समान अवधि में 2.80 लाख टन रहा था। हरियाणा में 15 फरवरी तक 3.20 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ जो पिछले वर्ष इसी अवधि में तीन लाख टन रहा था। इसी तरह से उत्तराखंड में इस दौरान 2.10 लाख टन उत्पादन हुआ जो पिछले सीजन में 15 फरवरी तक 1.75 लाख टन रहा था।

Share it
Top